गीत

हो….. सुन ऽऽ ए चँदनिया, सुन ऽऽ ए दिलजनिया
जियरा मे सटायी के, लहराई ल ऽऽ चुनरिया
हो…… सुन ऽऽ ए चँदनिया, सुनऽऽ ए दिलजनिया
……………………………………………………………………………..
गर न तोहके नियरा हम अवऽती
प्यार हम तोहसे कयीसे कऽरती
गर न तोहके नियरा………………….
प्यार हम तोहसे ……………………….
चऽलऽ किनऽ तानी तोहर झुमका
अईसे ना मटकाऽव रानी तू ठुमका
हो…… सुन ऽऽ ए चँदनिया, सुन ऽऽ ए दिलजनिया
………………………………………………………………………………
चऽलऽ गोरी जाईं सावन मेला
मेला मे ना भेंटायी हमर साला
चऽलऽ गोरी जाईं……………….. …..
मेला में ना भेंटायी…………………….
देखिहे तऽ करिहें हम से दुशऽमऽनी
चऽढल बा तोह पे नयी जवानी
…………………………………………………..

Related Articles

थल सेना दिवस पर देशक सिपाही केर सम्मान में मिथिला केर भाव

हमर देशक सिपाही हमर शान छै। देशक रक्षा में जिनकर प्राण छै।। नञ भोजन केॅ कोनो फिकीर छै। नञ छाजन केॅ कोनो फिकीर छै।। जाड़…

Responses

New Report

Close