तुम नारी हो

तुम नारी हो, यूं अबला न बनो ।
दुर्गा – अवतारी हो, सबला तो बनो ।
बीती बातों को छोड़ परे,
आगे के रस्ते तय तो करो ।
रस्ता था, कांटो वाला बीत गया
रस्ता अब , फूलों वाला आएगा ।
जीवन में तेरे ए, प्यारी सखी,
कोई सुखद संदेशा लाएगा ।
सौगंध तुम्हे तुम ना हारोगी,
भीतर की उदासीनता मारोगी ।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

भोजपुरी चइता गीत- हरी हरी बलिया

तभी सार्थक है लिखना

घिस-घिस रेत बनते हो

अनुभव सिखायेगा

25 Comments

  1. Chandra Pandey - September 8, 2020, 7:43 am

    बहुत सुंदर कविता, बहुत सुंदर संदेश

    • Geeta kumari - September 8, 2020, 9:13 am

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका चंद्रा जी 🙏

  2. Devi Kamla - September 8, 2020, 7:46 am

    Wow, very nice poem

  3. Satish Pandey - September 8, 2020, 7:56 am

    तुम नारी हो, यूं अबला न बनो —–
    गीता जी, आपके द्वारा कम शब्दों में सारगर्भित बात कही गयी गई। निराशा में घिरी सखी को प्रेरित करते भाव तत्व की प्रधानता है। भाषा मे दुरूह के बजाय सरल शब्दों का प्रयोग किया गया है। आपकी भाषा मे प्रवाह है, लय है, जिस कारण कला पक्ष ने भी मजबूती प्राप्त की है। आपकी लेखनी निरंतर यूँ ही चलती रहे।
    निराश को उत्साह देना ही कविता और दोस्त का काम है, जो आपकी कविता में आया हुआ है।

    • Geeta kumari - September 8, 2020, 9:17 am

      बहुत सारा धन्यवाद आपका सतीश जी 🙏 आपने कविता के भाव को बहुत ही अच्छे से समझा है और बहुत ही खूबसूरती से समीक्षा भी की है।…….. आपकी सुंदर समीक्षा के लिए बहुत बहुत आभार 🙏

  4. मोहन सिंह मानुष - September 8, 2020, 9:42 am

    सुन्दर अभिव्यक्ति

  5. Indu Pandey - September 8, 2020, 9:52 am

    सुन्दर कविता

    • Geeta kumari - September 8, 2020, 11:01 am

      बहुत बहुत शुक्रिया इंदू जी🙏

  6. Rishi Kumar - September 8, 2020, 11:15 am

    बहुत बहुत अच्छी रचना

  7. Vasundra singh - September 8, 2020, 11:28 am

    सुन्दर कविता

    • Geeta kumari - September 8, 2020, 11:34 am

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका वसुंधरा जी 🙏

  8. Pragya Shukla - September 8, 2020, 12:45 pm

    जबरदस्त,उम्दा
    नारी शक्ति की जय हो

  9. प्रतिमा चौधरी - September 8, 2020, 1:08 pm

    सुंदर प्रस्तुति

  10. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - September 8, 2020, 3:43 pm

    अतिसुंदर भाव

  11. Isha Pandey - September 23, 2020, 4:25 pm

    Bahut hi sundar

  12. Piyush Joshi - September 23, 2020, 4:27 pm

    वाह जी वाह

    • Geeta kumari - September 23, 2020, 5:02 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका पीयूष जी 🙏

  13. Indu Pandey - September 23, 2020, 6:37 pm

    तुम नारी हो, यूं अबला न बनो ।
    अतिसुंदर भाव

    • Geeta kumari - September 23, 2020, 8:05 pm

      कविता के भाव को समझने के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद इन्दु जी 🙏

Leave a Reply