बापू तुम्हारे सपनों को हम साकार करेंगे

बापू तुम्हारे सपनों को हम साकार करेंगे।
हम हिन्द के हैं बालक सेवादार बनेंगे।। इसे प्यार करेंगे।।

मूल मंत्र जो दिया आपने, सत्य अहिंसा का सबको।
अपनाऐंगे हम जीवन में, जीवन को साकार करेंगे।।
हम हिन्द के हैं बालक सेवादार बनेंगे।। इसे प्यार करेंगे।।

पहले सेवा करूँ पिता का और माता का मन से।
फिर जन-जन का सेवक बनकर परोपकार करेंगे।।
हम हिन्द के हैं बालक सेवादार बनेंगे।। इसे प्यार करेंगे।।

तन-मन को हम निर्मल करके घर बाहर हम साफ करे।
स्वच्छ -स्वस्थ भारत हो अपना ऐसा ही व्यवहार करेंगे।।
हम हिन्द के हैं बालक सेवादार बनेंगे।। इसे प्यार करेंगे।।

पढ़े -लिखें और नेक बनें हम देश धर्म के ख़ातिर।
‘विनयचंद ‘बापू के बचन को दिल अंगीकार करेंगे।।
हम हिन्द के हैं बालक सेवादार बनेंगे।। इसे प्यार करेंगे।।
बापू तुम्हारे सपनों को साकार करेंगे।। कर्णधार बनेंगे।।

पं़विनय शास्त्री ‘विनयचंद ‘
बस्सी पठाना
पंजाब


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

मुस्कुराना

वह बेटी बन कर आई है

चिंता से चिता तक

उदास खिलौना : बाल कबिता

4 Comments

  1. Suman Kumari - October 2, 2020, 11:08 pm

    बहुत ही सुन्दर अभिव्यक्ति

  2. Satish Pandey - October 2, 2020, 11:11 pm

    हम हिन्द के हैं बालक सेवादार बनेंगे।। इसे प्यार करेंगे।।
    बापू तुम्हारे सपनों को साकार करेंगे।। कर्णधार बनेंगे
    वाह गांधी जी की जयंती पर बहुत ही खूबसूरत संकल्प व्यक्त करती सुन्दर कविता। जय हो

  3. Geeta kumari - October 3, 2020, 5:01 am

    बापू गांधी जी के सपनों को साकार करने का बहुत ही सुन्दर भाव ।गांधी जयंती पर बापू गांधी जी को सच्ची श्रद्धांजलि अर्पित करती हुई बहुत शानदार रचना ।

  4. Rajiv Mahali - October 3, 2020, 10:41 am

    बहुत खूब sir

Leave a Reply