शोभा

शोभे सरोवर राजहंस से
बगिया शोभे कोयलिया से।
ज्ञानी जन से सभा की शोभा
दुनिया शोभे मधुर बोलिया से।।

Related Articles

Responses

New Report

Close