हमर जिनगी ल बनाये खातिर

हमर जिनगी ल बनाये खातिर

Cमोर महतारी अऊ मोर ददा
कईसन मेहनत करत हे
हमर जिनगी ल बनाये खातिर
अपन सरीर ल भजथे
भिनसहरे ले उठ के दुनो
पानी कांजी भरत हे
आट परसार अऊ खोर दुवार
महतारी सब ल लिपत हे
गरुआ भैंइसा के चारा दाना
ददा के भरोसे हे
गोरस दुह के वो बिचारा
दू पइसा म बेचत हे
अपन शउख के बलि देके
हमर बर पइसा जोरत हे
हम पढ़ लिख जाबो
कुछ बन जाबो
इहि सोच के मरत हे
बासी पसिया खा के ददा
खार म जांगर पेरत हे
घाम छाह अऊ बादर पानी
सबो म नांगर जोतत हे
उखर करजा ल कइसे उतारबो
इही सोंच के मन झकत हे
उखर उमिद ल नि डोलान
हमू ल मेहनत करना हे
उनखर सेवा करके संगी
हमू ल जीवन तरना हे

Chhattisgarhi WhatsApp Text | Jokes | SMS | Hindi | Indian - Latest Jokes, funny pics and meme to make you laugh. Admin Whats App No. 9669227782

Chhattisgarhi WhatsApp Text | Jokes | SMS | Hindi | Indian – Latest Jokes, funny pics and meme to make you laugh.
Admin Whats App No. 9669227782

 


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

9 Comments

  1. Sridhar - July 19, 2016, 6:55 pm

    bahut khoob ji

  2. Bhanu Raj - July 19, 2016, 7:50 pm

    thanks dear

  3. Abhishek kumar - November 25, 2019, 1:38 am

    👏👏

  4. Pragya Shukla - December 9, 2019, 8:33 pm

    Good

  5. Pragya Shukla - December 10, 2019, 10:44 am

    👏👏

  6. Kanchan Dwivedi - March 7, 2020, 11:35 pm

    Nice

  7. Satish Pandey - July 31, 2020, 7:39 am

    बहुत खूब

  8. प्रतिमा चौधरी - September 2, 2020, 4:03 am

    सही कहा आपने। माता पिता अपने शौक कि बलि देकर बच्चो के भविष्य के लिए पैसे जमा करते है।इस कविता में ग्रामीण जीवन में माता पिता के भावों को अच्छी तरह दर्शाया गया है।। बहुत सुंदर

Leave a Reply