क्यों छोटी छोटी बातों को बड़ा बनाते हो

क्यों छोटी -छोटी बातों को बड़ा बनाते हो?
भोली-भाली जनताओं से बगावत कराते हो।।
क्या कभी जनताओं को सत्य से रुबरू कराते हो?
कोड़े कागज पर दस्तखत से पहले शर्त समझाते हो?
फिर क्यों छोटी -छोटी बातों को बड़ा बनाते हो?
जनताओं को हथियार की तरह इस्तेमाल मत करो।
भारी पलड़ा से उठा -उठा कर अपनी जेब मत भड़ो।।
हल्के को भारी करने का क्या यही एक तरीक़ा है?
दंगा और बगावत फैला कर जीवन का रंग फीका है।।
जब हर बात बात में कानून बतियाते हो।
फिर क्यों छोटी छोटी बातों को बड़ा बनाते हो?


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

29 Comments

  1. Amod Kumar Ray - December 21, 2019, 9:39 am

    वाह

  2. Pragya Shukla - December 21, 2019, 10:12 am

    Sundar

  3. Ankita Mishra - December 21, 2019, 10:44 am

    Good

  4. Sivam Das - December 21, 2019, 10:55 am

    👌🧤

  5. Sivam Das - December 21, 2019, 10:56 am

    Too good

  6. Arihant Ji - December 21, 2019, 11:03 am

    Good

  7. देवेश साखरे 'देव' - December 21, 2019, 11:18 am

    सुन्दर

  8. Reema Raj - December 21, 2019, 12:56 pm

    👌👌👌

  9. Pragya Shukla - December 21, 2019, 1:01 pm

    Nice

  10. Reema Raj - December 21, 2019, 3:56 pm

    ✍✍✍

  11. Abhishek kumar - December 21, 2019, 5:02 pm

    Awesome

  12. Shyam Kunvar Bharti - December 21, 2019, 8:06 pm

    वाह बड़ा बनाते हो

  13. Abhishek kumar - December 21, 2019, 10:05 pm

    Good

  14. Dhruv kumar - December 24, 2019, 9:13 pm

    Nice

Leave a Reply