चंद मुक्तके – विजय हमारी है |

चंद मुक्तके – विजय हमारी है |
प्रभु की माया होगा कोरोना का सफाया |
इसी मंसा मोदी ने लोक डाउन लगाया |
चहुं ओर मचाया हाहाकार छुपा दुशमन |
धीरे धीरे सबने मिलकर है असर घटाया ||1||

लौटकर खुशी फिर घर सबके लुभाने लगी |
बच्चो की खुशिया उछल कूद मचाने लगी |
बूढ़े जवान सभी लेते सांस राहत की अब |
उठाया कदम दमन अब असर दिखाने लगी ||2||

ग्रीन गुलाबी लाल रंगो बंटा देश का हिस्सा |
हटी पाबन्दिया कुछ कही मर्ज का किस्सा |
किया इतना सब्र थोड़ा और कर लेंगे हम |
खड़ा किया जो हउआ कट बचा मात्र बित्ता ||3||

लड़ना जिवन का काम चाहे दुशमन शैतान |
होगी विजय हमारी लड़ेंगे नहीं करेंगे आराम |
होगा जो नियम हम हर हाल मे मान लेंगे |
रासन पानी कि किल्लत ना करेंगे घमासान ||4||
खुद से ज्यादा रक्षा वतन की प्यारी है |
भारत की आन बान शान सबसे न्यारी है |
न थकना न रुकना ना झुकना है हमे |
खुल जाएँगे सारे बंधन जो हमने गुजारी है||5||

श्याम कुँवर भारती (राजभर )
कवि/लेखक /समाजसेवी
बोकारो झारखंड ,मोब 9955509286


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

कवि का समर्पण

शहीद को सलाम

चाहता हूँ माँ

हिन्दी सावन शिव भजन 2 -भोला जी की भंगिया |

4 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - May 4, 2020, 9:26 pm

    Nice

  2. Dhruv kumar - May 5, 2020, 10:23 am

    Nyc

  3. महेश गुप्ता जौनपुरी - May 5, 2020, 7:47 pm

    वाह बहुत सुंदर

  4. Abhishek kumar - May 8, 2020, 1:37 pm

    Good

Leave a Reply