पाक इश्क…

पाक इश्क अक्सर होता नहीं,
मगर जब होता है तो बेमौसम बरसता है!
और जिस पर बरसता है,
वो बहुत भीगता है,
आंसुओं से भी और उस खुमार से भी!


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

12 Comments

  1. Rishi Kumar - September 16, 2020, 3:23 pm

    😊✍👌✍👌

  2. Pragya Shukla - September 16, 2020, 4:36 pm

    Waah

  3. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - September 16, 2020, 4:52 pm

    Nice

  4. Praduman Amit - September 16, 2020, 6:36 pm

    इश्क़ करने वाले अब, वो दो दीवाने कहाँ।
    जब चोट लगती थी, तब दर्द होता था वहाँ ।।

  5. Satish Pandey - September 16, 2020, 7:36 pm

    बहुत खूब

  6. मोहन सिंह मानुष - September 16, 2020, 11:08 pm

    पवित्र प्रेम के विषय में बहुत ही सुंदर अभिव्यक्ति

  7. Pratima chaudhary - September 17, 2020, 6:40 am

    सुन्दर समीक्षा धन्यवाद

Leave a Reply