फिर वो याद आई हैं।

फिर वो याद आई हैं
फिर वो याद……..

जिसके रेश्मदार बाल
जिसकी हिरणी जैसी चाल,
यौवन है कमाल,
पग-पग में वेवफाई हैं।
फिर वो याद आई हैं
फिर वो ……….

जिसके कजरारे नयन,
रुप है मधुबन,
अंगड़ाई लेती पवन,
पल-पल में रूसवाई हैं,
फिर वो याद आई हैं।
फिर वो याद……….


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

12 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - December 16, 2019, 6:02 am

    Good

  2. Abhishek kumar - December 16, 2019, 10:37 am

    Touching lines

  3. Pragya Shukla - December 16, 2019, 10:40 am

    Good

  4. Poonam singh - December 16, 2019, 2:42 pm

    Nice

Leave a Reply