रोशनी कुछ और है

Raja Ji

कुछ गरीबों का आशना

फिर जला है शायद

राजा जी के महल में

आज रोशनी कुछ और है

                   ……यूई

Related Articles

Responses

  1. सोच रहे है कुछ
    कह रहे है कुछ
    नेताजी के अल्फ़ाजों की
    नीयत कुछ और है

      1. AHSAAS… Anjali Jee .. Yehi to sab gadbad hai naa….. Na-muraad chode bhee nehi jaate aur dafnaye bhee nehi …. Maloom hai jeena inhee ke sang hai…to bus LAFZON kaa hee to shaara hai ab…. Ehsaas ko samajh sake ..yeh waqt khaan hai kisee ke paas… lafzon ko pad lete ho ..bus yehi gneemat hai …

New Report

Close