विनम्रता की पराकाष्ठा

मां और पत्नी दोनों गुरू,
दोनों से नव-जीवन शुरू।
मां कहे , पत्नी सिखाती,
पत्नी कहे, मां सिखाती ।
विनम्रता की पराकाष्ठा देखो,
सिखाने का श्रेय एक-दूजे को दिलाती
✍️…गीता


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

28 Comments

  1. Pragya Shukla - September 7, 2020, 11:29 am

    हा हा हा…
    अच्छा व्यंग है

  2. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - September 7, 2020, 11:30 am

    अतिसुंदर भाव

    • Geeta kumari - September 7, 2020, 11:39 am

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका भाई जी 🙏

  3. प्रतिमा चौधरी - September 7, 2020, 2:18 pm

    बहुत सुंदर पंक्तियां, हास्य व्यंग

  4. मोहन सिंह मानुष - September 7, 2020, 2:43 pm

    और साहस की बात यह भी है कि उन दोनों के सीखाएं गए ज्ञान को पचाना बड़ा मुश्किल हो जाता है बेटे को।
    बहुत ही निष्पक्षता की आवश्यकता होती है इस ज्ञान के लिए 😊😊😁
    बहुत ही बेहतरीन हास्य व्यंग कविता

    • Geeta kumari - September 7, 2020, 3:19 pm

      बिल्कुल ऐसा ही होता होगा।
      समीक्षा के लिए बहुत बहुत धन्यवाद 🙏

  5. Satish Pandey - September 7, 2020, 3:54 pm

    इस तरह की आदर्श स्थिति प्रस्तुत करने हेतु आपकी लेखनी की जितनी तारीफ की जाये वह कम है। जहां ऐसा है वहां वास्तव में स्नेह-प्रेम की व्यापकता रहती है।
    बहुत खूब

    • Geeta kumari - September 7, 2020, 4:12 pm

      इतनी सटीक समीक्षा के लिए बहुत बहुत धन्यवाद आपका सतीश जी 🙏🙏….आप मेरे लेखन में सच में बहुत उत्साह वर्धन करते हैं।
      बहुत बहुत आभार

  6. MS Lohaghat - September 7, 2020, 4:19 pm

    बहुत शानदार लेखन

  7. Chandra Pandey - September 7, 2020, 4:32 pm

    वाह वाह

    • Geeta kumari - September 7, 2020, 4:41 pm

      बहुत बहुत शुक्रिया चंद्रा जी🙏

  8. Piyush Joshi - September 7, 2020, 4:34 pm

    Very nice गीता मैम

  9. Isha Pandey - September 7, 2020, 5:36 pm

    Wow, very nice poem

  10. Chetna jankalyan Avam sanskritik utthan samiti - September 7, 2020, 5:38 pm

    Nice poem

  11. Rishi Kumar - September 7, 2020, 8:43 pm

    आप ने सच ही कहा है बहुत अच्छी लेखनी

  12. Praduman Amit - September 7, 2020, 9:25 pm

    बहुत ही सुंदर प्रस्तुति ।

  13. Indu Pandey - September 23, 2020, 6:44 pm

    Atisundar Geeta ji

  14. Seema Chaudhary - September 24, 2020, 9:28 pm

    हा हा हा बहुत ख़ूब बिल्कुल सही

Leave a Reply