वीणावादनी

ज्ञान कि देवी सुर कण्ठ वरदायनी,
शत् शत् नमन तुम्हें करें हम सब ।
जीह्वा पर हम सबके करती हो वास,
हे वीणावादनी नमन करें हम सब।।

✍महेश गुप्ता जौनपुरी

Related Articles

Responses

New Report

Close