सबकी कदर कर ले

बरस ना जाये फिर नैना , तू दिल मे कैद कही वो अब्र कर ले..

तो क्या हुआ , अगर कुछ ख्वाईसे पूरी ना हुई तेरी ….

तू अधूरी ख्वाईसों संग पूरा ये सफ़र कर ले…

 

रिश्तो की रस्में दिल से निभा .

शामिल उनकी हर ख़बर में , अपनी ख़बर कर ले…

 

जीते ज़ी का हैं सब झमेला …

तू क़दरदान बन , सबकी कदर कर ले…..

 

खामोश लफ्ज़ो में छिपी हैँ एक ख़ुशी …..

तू वो ख़ुशी महसूस करने , थोड़ा सब्र कर ले…

 

आगे का सफ़र थोड़ा तन्हा कटेगा…

इत्मीनान से कटे , तो थोड़ी फ़िक्र कर ले…..

 

पता हैं क़ायनात को तेरे साग़र – ए – इश्क़ का …..

तू इज़हार करने , बेताब दिल की  एक – एक लहर कर ले….

 

 

अकेलेपन की चिंगारी दे रही है दस्तक ” पंकजोम प्रेम “….

इसके आग बनने से पहले ,  महफूज़  उसके साथ का नगर कर ले .

Related Articles

प्यार अंधा होता है (Love Is Blind) सत्य पर आधारित Full Story

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ Anu Mehta’s Dairy About me परिचय (Introduction) नमस्‍कार दोस्‍तो, मेरा नाम अनु मेहता है। मैं…

Responses

  1. आगे का सफ़र थोड़ा तन्हा कटेगा…
    इत्मीनान से कटे , तो थोड़ी फ़िक्र कर ले…..bahut khoob kaha aapne

New Report

Close