सीधे – टेढ़े रास्ते..

कलियुग ही सही, मुझे सीधे रस्ते चलने दे,
सतयुग न सही ,मुझे टेढ़े रस्ते रास नहीं आते हैं।
……………✍️गीता..


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

26 Comments

  1. Isha Pandey - September 9, 2020, 7:54 am

    लोग मशहूर होने को टेढ़े रास्ते अपनाते हैं, लेकिन सच्चा कवि सच्ची राह चलता है। वाह

    • Geeta kumari - September 9, 2020, 8:07 am

      बात समझने के लिए और आपकी मूल्यवान समीक्षा के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद 🙏

  2. Devi Kamla - September 9, 2020, 8:35 am

    मैं देखकर दंग रह गयी उनकी भूख को,
    जो रात भर सोए नहीं मुझे हराने को।

    • Geeta kumari - September 9, 2020, 8:59 am

      सही कहा है मैम…..same here.
      इतनी सुन्दर समीक्षा हेतु आपका हार्दिक आभार एवं धन्यवाद 🙏🙏

    • Isha Pandey - September 9, 2020, 9:38 am

      सही कहा आपने इतनी भी भूख क्या होगी जो लोग इस कदर रात रात भर लगे रहते हैं दूसरों को पीछे करने में

      • Geeta kumari - September 9, 2020, 10:59 am

        जाने दो ना ईशा जी लगे रहने दो,हम तो ठाठ से सोए…. hahaha
        सुन्दर समीक्षा के लिए आपका बहुत बहुत आभार 🙏

  3. प्रतिमा चौधरी - September 9, 2020, 9:11 am

    सुन्दर पंक्तियां

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - September 9, 2020, 10:42 am

    सुंदर

    • Geeta kumari - September 9, 2020, 11:01 am

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका भाई जी 🙏

  5. मोहन सिंह मानुष - September 9, 2020, 10:45 am

    सुंदर पंक्तियां

    • Geeta kumari - September 9, 2020, 11:02 am

      बहुत बहुत शुक्रिया मोहन जी🙏

  6. MS Lohaghat - September 9, 2020, 12:48 pm

    कलयुग इसे ही कहते हैं, जब लोग अनायास ही ….
    आपने बिल्कुल उचित लिखा है

    • Geeta kumari - September 9, 2020, 12:55 pm

      बहुत बहुत आभार एवं धन्यवाद जी 🙏

  7. Piyush Joshi - September 9, 2020, 12:56 pm

    बहुत खूब

  8. Suman Kumari - September 9, 2020, 1:00 pm

    बहुत सुन्दर अभिव्यक्ति

    • Geeta kumari - September 9, 2020, 3:22 pm

      बहुत बहुत धन्यवाद आपका सुमन ही🙏

  9. Pragya Shukla - September 9, 2020, 3:45 pm

    Very nice

  10. Satish Pandey - September 9, 2020, 11:35 pm

    बहुत सुंदर और सटीक अभिव्यक्ति

    • Geeta kumari - September 10, 2020, 6:58 am

      कविता के भाव समझने के लिए आपका बहुत बहुत धन्यवाद सर 🙏

  11. Devi Kamla - September 23, 2020, 3:51 pm

    वाह बहुत खूब

  12. Indu Pandey - September 23, 2020, 6:24 pm

    सुन्दर पंक्तियां

Leave a Reply