स्वतंत्रता दिवस

कदम कदम बढ़ा रहे हैं,
अपनी छाती अड़ा रहे हैं,
कश्मीर की धरती पर वो सैनिक अपनी,
माँ का गौरव बढ़ा रहे हैं,
तोड़ रहे है दुश्मन पल पल,
सरहद की दीवारे हैं,
वीर हमारे इनको घुसा के धूल चटा रहे है,
जो साथ में रहकर साले पीठ में छुरा घुसा रहे हैं,
देश के जवान सामने से इनको इनकी औकात दिखा रहे हैं॥

राही (अंजाना)


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

सरहद के मौसमों में जो बेरंगा हो जाता है

आजादी

मैं अमन पसंद हूँ

So jaunga khi m aik din…

2 Comments

  1. Ritika bansal - July 28, 2016, 11:46 am

    nice

Leave a Reply