भोजपुरी होली गीत 1-सगरो फगुनिया |

भोजपुरी होली गीत 1-सगरो फगुनिया |
आवा गोरी रंग देई तोहरो बदनीया |
देखा चढ़ल सबके सगरो फगुनिया |
रंगे केहु गाल गुलाबी |
केहु रंगे बाल शराबी |
रंगवा लगाला ना होई खराबी |
रंगवा हउवे प्रेमवा के चाबी |
बोला गोरी रंग देई तोहरो ओढ़निया |
आवा गोरी रंग देई तोहरो बदनीया |
चढ़ल केहु पर फागुन क नसा |
चढ़ल केहु पर होली क नसा |
चढ़ल केहु पर सजनी क नसा |
महकल काहे फागुन गोरी तोहरो जवनिया |
आवा गोरी रंग देई तोहरो बदनीया |
केहु खेले होरी भर पिचकारी |
गुलाल उढ़ावे केहु झोरी झारी |
केहु बजावे झाल मंजीरा |
केहु गावे झूमी खूब जोगिरा |
मन करे रंग देई गोरी तोहरो नथुनीया |
आवा गोरी रंग देई तोहरो बदनीया |

श्याम कुँवर भारती [राजभर] कवि ,लेखक ,गीतकार ,समाजसेवी ,

मोब /वाहत्सप्प्स -9955509286


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

रंग से परहेज़ कैसा

होली का रंग बस लाल है

हुड़दंग करेगे होली में

हिन्दी होली गीत – मत तरसाओ ना |

5 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - February 27, 2020, 7:21 am

    Nice

  2. Priya Choudhary - February 27, 2020, 8:06 am

    Good 👍

  3. NIMISHA SINGHAL - February 27, 2020, 12:20 pm

    Holi ke rang

  4. Pragya Shukla - February 27, 2020, 8:19 pm

    Good

  5. Kanchan Dwivedi - March 4, 2020, 10:02 pm

    Nice

Leave a Reply