” हार बैठा हूँ !” #2 Liner- 49

ღღ__अक्सर खुद ही खुद से बाज़ियॉं, खेलता रहा साहब;
.
डर तो अब लगता है, जब खुद को हार बैठा हूँ !!…..#अक्स
.
12644947_1498762000432190_3074571307767254669_n

Related Articles

प्यार अंधा होता है (Love Is Blind) सत्य पर आधारित Full Story

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ Anu Mehta’s Dairy About me परिचय (Introduction) नमस्‍कार दोस्‍तो, मेरा नाम अनु मेहता है। मैं…

हार जाने की खुशी

उन्हें जिताना मुझे अच्छा लगता है प्रथम स्थान वही पाये इसलिए उनसे हार जाना मुझे अच्छा लगता है वे तो मेरे बड़े भय्या हैं उनका…

Responses

New Report

Close