HINDUSTAN

जिन्दा रहे मेरा हिंदुस्तान
अद्भुत है जिसका गुणगान

सशक्त युवा का प्रबल ईमान
खुली हवा में भिखरा सम्मान
हिमालय जैसा पर्वत तुझको
शीश झुका करता प्रणाम..

सबसे प्यारा सबसे न्यारा
समुद्र का ये अद्भुत किनारा
जहाँ गाँधी में गंगा की धारा
कर्क पे चमकता सूरज हमारा

शहादत पर जो दे बलिदान
पलकें झुका आँखों से सलाम
रहे तिरंगा सबसे ऊँचा
समृद्ध भारत की बुलंद पहचान

जिन्दा रहे मेरा हिंदुस्तान
अद्भुत है जिसका गुणगान
© M K Yadav


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

आज़ादी

शहीद

15 अगस्त , स्वतंत्रता का पर्व

पाकिस्तान के दो टुकड़े

12 Comments

  1. Geeta kumari - August 19, 2020, 7:34 am

    बहुत सुंदर रचना

  2. Rishi Kumar - August 19, 2020, 8:04 am

    Very nice

  3. Anu Singla - August 19, 2020, 11:14 am

    NICE

  4. An Ordinary Artist - August 19, 2020, 11:53 am

    🇮🇳🇮🇳🇮🇳

  5. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - August 19, 2020, 2:04 pm

    Atisunder

  6. M K Yadav - August 19, 2020, 2:24 pm

    Dhanywaad Vinay Ji 👏👏👏

  7. Satish Pandey - August 19, 2020, 7:01 pm

    बहुत सुन्दर

Leave a Reply