यूं इकरार ए इश्क मे तू ताखीर न कर

यूं इकरार ए इश्क मे तू ताखीर न कर

यूं इकरार ए इश्क मे तू ताखीर न कर

चले गये जो इकबार, फिर ना आयेंगे कभी


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Panna.....Ek Khayal...Pathraya Sa!

Related Posts

मिलना न हुआ

बात से बात चले

आज कुछ लिखने को जी करता है

5 Comments

  1. Priya Gupta - July 14, 2015, 7:54 am

    thumbs up!

  2. Satish Pandey - August 1, 2020, 2:44 pm

    बहुत सुंदर पंक्तियाँ

  3. Satish Pandey - August 24, 2020, 8:08 pm

    Waah waah

  4. मोहन सिंह मानुष - August 29, 2020, 9:03 pm

    शानदार

Leave a Reply