“हद” #2Liner-34

ღღ__ना जाने कैसे तुझको, “बे-हद” चाह बैठा “साहब”;
.
ये दिल जो अक्सर मुझको, मेरी “हद” बताता था !!………‪#‎अक्स‬

Related Articles

Responses

New Report

Close