आज़ादी

स्वतंत्रता दिवस काव्य पाठ प्रतियोगिता:-

दृढ़ निश्चय लेके निकले
मुसीबत को निकाला जड़ से उखाड़
ये देश भक्त हुए दुनिया में विख्यात
जब लहू से लिखा इन वीरो ने भारत माँ का नाम

करने आये थे व्यापार
और कर रहे थे देश को बर्बाद
देश के वीरो ने किया
इन अंग्रेज़ो से हमे आज़ाद

कठिन था हराना
मजबूत थे जज्बात
अंग्रेज़ो पे फ़तेह पाकर
इस देश को किया आबाद

मुसीबत की लेहरो को
अपने जोश से मोड़ दिया
जिस घमंड से आये थे अंग्रेज़
उस घमंड को भी भारत के वीरो ने तोड़ दिया

गाँधी ,नेहरु ,पटेल , सुभाष ने
इस देश को आज़ादी दिलाई
भगत , राजगुरु और , सुखदेव की
क़ुरबानी से हर देशवासी की आँखे भर आई,

दिखाई एकता की ताकत
हुआ भारत विख्यात पूरे जहान में
बुरी नज़र वालो दूर रहना
ऐसे और वीर है इस हिंदुस्तान में

फेहराओ तिरंगा
याद रखो उन वीरो को
भारत माँ की रक्षा
की तोड़के अंग्रेज़ो की जंजीरो को

देश का त्यौहार है आया
खुशियाँ मनाओ और बांटो मिठाइयाँ
आप सभी देशवासियो को
स्वतंत्रता दिवस की खूब बधाइयाँ

– अंशुल ओझा


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

भोजपुरी चइता गीत- हरी हरी बलिया

तभी सार्थक है लिखना

घिस-घिस रेत बनते हो

अनुभव सिखायेगा

20 Comments

  1. Pragya Shukla - August 16, 2020, 10:09 am

    Good

    • himanshu ojha - August 16, 2020, 10:56 am

      Thank you mam😊

      • Pragya Shukla - August 16, 2020, 10:04 pm

        जो कुछ भी आपने लिखा है
        उससे पता चल जाता है
        की आप कितने वरिष्ठ कवि हैं।

    • Pragya Shukla - August 16, 2020, 6:08 pm

      मेरी कविता को पढ़कर बताइए आपको कैसी लगी है हिमांशु जी?

      • himanshu ojha - August 16, 2020, 6:56 pm

        Ji mam
        Meri khushkismati ki apki Kavita padhne ka moka Mila mujhe
        Thank you pragya mam

      • Pragya Shukla - August 16, 2020, 10:02 pm

        अरे सर! इतना झाड़ पर मत चढाईये मुझे
        मैं बस कोशिश कर रही हूँ
        कुछ लिखने की और सीखने की।
        आपकी कविता पढ़कर शान्ती मिलती है मुझे।
        पिछली बार बिज़ी होने के कारण कमेंट नहीं कर सकी।

  2. मोहन सिंह मानुष - August 16, 2020, 11:55 am

    सुन्दर प्रस्तुति

  3. Pragya Shukla - August 16, 2020, 10:05 pm

    जो कुछ भी आपने लिखा है
    उससे पता चल जाता है
    की आप कितने वरिष्ठ कवि हैं।

    • himanshu ojha - August 16, 2020, 11:07 pm

      Mam AP sabse hi sikha hai sab kuch
      Likhne ka tarika😊

      • Pragya Shukla - August 16, 2020, 11:27 pm

        थैंक्स हिमांशु जी

  4. himanshu ojha - August 17, 2020, 12:36 am

    😊😊

  5. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - August 17, 2020, 8:15 am

    Very good

  6. Prabhat Pandey - August 17, 2020, 4:44 pm

    Bahut sundar prastuti, lajawab rachana

  7. Prayag Dharmani - August 17, 2020, 9:16 pm

    सुंदर रचनात्मक अभिव्यक्ति

  8. Satish Pandey - August 18, 2020, 7:39 am

    सुन्दर कविता, सुन्दर पंक्तियाँ

Leave a Reply