Antariksha Saha, Author at Saavan's Posts

आज़ादी

तुमको यह आज़ादी मुबारक हो हमे तोह तेरे प्यार ने गुलाम बना रखा है कहने पे हम आज़ाद है पर तेरे जुदाई के डर ने पिजरे में रोक रखा है ख्वाब तोह आज भी बहुत है पड़ पता ना चला कब पर काट लिए गए दो वक़्त की रोटी सुखी सब्जी का स्वाद इतना है की ना पुछो आज़ादी कही बेसुद सी खड़ी हँस रही है »

तेरे जाने के बाद हुआ

तेरा जिक्र बेखयाली में हुआ मुझे फ़िक्र तेरे जाने के बाद हुआ मुझे मोह्बत थी तोह तुझसे पर अहसास तेरे जाने के बाद हुआ »

आखिर खुश तोह हो ना तुम

आखिर खुश तोह हो ना तुम कभी यह ही मायने रखा करती थी किताबों के बीच वोह सुखी गुलाब आज भी बहुत कुछ कहती है किस्मत ने खिंची कैसी यह डोर मै यहा और तुम कहा हो गए अपनो मे तुम्हारा शुमार होता था पर अब तुम कब पराए हो गए पता ना चला »

रात

रात को जगने वाले हर कोई आशिक नहीं होता साहब कुछ को अगले दिन रोटी की फ़िक़्र होती है »

आज़ाद है

तुम मेरे ज़िन्दगी खरीद सकते हो पर ख्वाब तोह आज़ाद है तुम मेरे तन को गुलाम कर सकते हो पर लब तोह आज़ाद है तुम मुझे मौत दे सकते हो पर सोच तोह आज़ाद है यह सोच आने वाले नस्ल मे सैलाब लाएगा मेरे नस्वर देह के जलने पे हज़ारों शहीदे मादरे वतन लाएगा »

वक़्त

वक़्त का क्या है कट जाता है जनाब जिस वक़्त पर तुम्हे गुरुर है वोह भी कट जाएगा »

दुश्मन

तुम लोगों से अच्छे दुश्मन है कम से कम दोस्त होने का दावा तोह नहीं करते »

गुरुर

इतना गुरुर ना कर अपनी खुबसुरती पड़ यह तोह उम्र के साथ चला जायेगा जितना उस खुदा ने प्यार और शिद्दत ने तुझे बनाया काश उतना अच्छा दिल दिया होता तोह इतनी ज़िंदगियां बर्बाद ना होती »

अधूरी सी कविता

तेरे जाने पे खुद को समेट लिया था सोचा था ज़िन्दगी खत्म है ना नींद थी ना चैन था इश्क़ इबादत थी कभी ना रैन था बात दिल की लफ़्ज़ों में थी पर लब पे खामोशी सी थी सच कह रहा तेरी कसम आज भी सपनों मैं तेरी राह तकता हूँ ज़िन्दगी के और कुछ पल खुदा ज़रूर लिखता तोह उसका क्या बिगड़ता मन के किसी कोने में आज भी मुलाकात की उम्मीद रखता हूँ »

मौला

साद और बर्बाद भी हुआ मौला प्यार भी किया नफरत भी किया मौला गुनाह भी किया मौला शफा भी किया अंत में रुका जहा तोह पिटारा खाली था जो कमाया वोह रह गया मौला तू कही भी नहीं दिखा मौला बस लोग थे गिने चुने हर बंदे मै तेरा अक्स है शायद और मै मन्दिर मस्जिद तुझे छानता फिरा काश कुछ पल होते कुफरत के होते कुछ लोगों का भला भी हम करते मौत के बाद का पता नहीं कुछ लोगों के चेहरे की मुस्कान की वजह बनते कुफरत-क्रूसेड साद... »

Page 1 of 11123»