Antariksha Saha, Author at Saavan's Posts

Smriti

Amar randhe misse gechey nil Tomar smriti ajo amaleen »

आयत

मेरी आयत है तू जितना पढ़ू उतना खो जाता हूँ काश इतनी सिद्दत से पढ़ा होता तोह अव्वल आ जाते »

मोहब्त

किसी से इतनी भी मोहब्त ना कर की सिर्फ तू ही सौगात भरता जाए मै से हम की दुरी दोंनो को तय करना है »

गया था उस गली

गया था उस गली जहा से निकाला गया था मोहब्बत थी इस लिए चुप था तेरे हर सितम का जवाब मौजूद था यह तोह तहज़ीब आरे आ गया »

विप्लब

जनता के बारूद को आग से मत ललकार शमा को बुझने ना देंगे ज़ुल्मी रात जितनी भी कोहराम मचाए माना विपक्ष धनवान बलवान है पर इतिहास साक्षी है जब भी सब जन विप्लब का रास्ता लेते है उनके एक आवाज़ ही तख्तता पलट करने मे शक्छम होती है »

शिक़ायत

खुदा से शिकायत हो तोह कभी गरीबों की बस्ती जाओ जनाब कितने खुशनसीब हो पता चल जाएगा »

नव वर्ष की हार्दिक अभिनंदन

जनवरी सपना दिखाती है दिसंबर गलतियां अपने गलतियों से सीख और आगे बर अपने सपनो पर नव वर्ष की हार्दिक अभिनंदन »

तेरा दीदार हुआ

मुदातों बाद तेरा दीदार हुआ बात पलछिन की थी जो कब से कहना था पर कब वोह बात अपना महत्व खो चुकी थी पता ना चला शायद वक़्त सबसे अच्छी दवा होती है »

तेरा दीदार हुआ

मुदातों बाद तेरा दीदार हुआ बात पलछिन में थी जो कब से कहना था पर कब वोह बात अपना महत्व खो चुकी थी पता ना चला शायद वक़्त सबसे अच्छी दवा होती है »

NRC

Tomar gharey mangsho bhat Amar paat e panta bhat Tomader sabar susama ahar Amar bari drabay muleyer haha kar Tomar bari bilash bahul Amar kure ey sambal Tor theke kichu chaini sudhu cheye chilam sadhin bhabe bachar adhikar Setao kere niley »

Page 1 of 13123»