Shyam Kunvar Bharti, Author at Saavan - Page 2 of 3's Posts

भोजपुरी चइता लोक गीत 1-बितले फगुनवा ये सइया

भोजपुरी चइता लोक गीत 1-बितले फगुनवा ये सइया बितले फगुनवा ये सइया , गऊआ लागल कटनिया के ज़ोर | कईसे होइहे गेंहू के कटनिया मोर | गऊआ लागल कटनिया के ज़ोर | सुना-2 मोर परदेशी बालम धईके आवा जल्दी रेलगड़िया | चलल जाई खेतवा होते रे भोर | गऊआ लागल कटनिया के ज़ोर | सुना -2 मोर लेहुरा देवरवा | चलावा ना दिन रात मोबइलिया | करबा ना किसनिया खइबा का कौर | गऊआ लागल कटनिया के ज़ोर | सुना -2 मोर छोटकी ननदिया | घूमा जनी त... »

भोजपुरी होली 13 -करे ले ठिठोली रे कान्हा |

भोजपुरी होली 13 -करे ले ठिठोली रे कान्हा | करेले ठीठोली रे कान्हा कदमिया पर चढ़ी के | रंगवा नहवावे रे सखिया गगरिया मे भरी के | बड़ा रे ई बाउर लागे जमुना के पनिया हो | मीठी फुसलाई कहे आवा राधा रनीया हो | मारी पिचकारी ये सखिया अँचरा के धरी के | करेले ठीठोली रे कान्हा कदमिया पर चढ़ी के | केतनों लुकाई रे बनवा खोजी हमे ले ले हो | झटके से आई कान्हा अंकवारी भरी ले ले हो | डूबी मरी जाई रे सखिया जमुना मे डूबी... »

भोजपुरी होली 12- बड़ा डर लागे केरोनवा से |

भोजपुरी होली 12- बड़ा डर लागे केरोनवा से | रंगवा लगाइब न अबिरवा लगाइब | बड़ा डर लागे केरोनवा से | अबकी फगुनवा खेलब ना होली ये भौजी | बड़ा डर लागे केरोनवा से | गलवा ना छूअब ना अँचरा के रंगब | ना हथवा मिलाईब फगुनवा से | साली से खेलब ना सरहज से खेलब | केकरा से खेलब हम होलिया ये भौजी | बड़ा डर लागे केरोनवा से | झारखंड मे खेलब ना बिहार मे खेलब | दिल्ली मे खिल्ली उढ़ावे केरोनवा ये भौजी | कान्हा रंग बरसावे बर... »

हिन्दी गजल- निभाते चले गए |

हिन्दी गजल- निभाते चले गए | हम अपनी वफा निभाते चले गए | वो मुझसे दूरिया बढ़ाते चले गए | शामिल था उनकी खुशी ओ गम | मेरे वक्त वो मुंह चिढ़ाते चले गए | प्यार के सिवा कुछ नहीं दुनिया मे | वो आग दुश्मनी क्यो बढ़ाते चले गए| तन्हा आना जाना मगर जरूरत सबकी | नीसा रिश्तो ज़िंदगी मिटाते चले गए | तन्हा रहना दोस्त जरूरी हंसी के लिए | दिल अजीज दोस्तो दुखाते चले गए | पसीना जरूरी दो वक्त रोटी के लिए | चाह ज्यादा छवि ... »

हिन्दी गीत- देख लेना |

हिन्दी गीत- देख लेना | कीमत मेरी मोहब्बत तुम समझ न पाओगे | याद मे मेरी तड़पते रह जाओगे देख लेना | जिंदगी मुझसा दोस्त शामिल न कर पाओगे| तन्हाइयों ढूंढते रह जाओगे मुझे देख लेना | मेरी पाक मोहब्बत को मजाक बना डाला | पाक साफ रिश्तो को ताख चढ़ा डाला | होगी जरूरत हाथ मलते रह जाओगे देख लेना | प्यार मुझसा किया न करेगा कोई | जान सिर्फ तुम पर दिया न मरेगा कोई | मेरा वफा सिला ना दे पाओगे देख लेना | अपनी हुशनों... »

हिन्दी गीत- तेरे रूप का सिंगार करूँ |

हिन्दी गीत- तेरे रूप का सिंगार करूँ | तेरे रूप का सिंगार करूँ | तुझपे दिल निसार करूँ | आंखो मे काजल लगा दूँ | पांवो मे पायल पहना दूँ | तेरी बांहों दिल बहार कर दूँ | तेरे रूप का सिंगार करूँ | बाली तेरे कानो मे पहनाऊंगा | कील हीरे की नाक मे लगाऊँगा | तेरे दिल मे जीवन गुजार सकूँ | तेरे रूप का सिंगार करूँ | चम चम बिंदिया लगाऊ माथे पे | खन खन कंगना पहनाऊ हाथो मे| तू है मेरी यही विचार करूँ | तेरे रूप का... »

सईया अइले ना भवनवा

भोजपुरी होली 11 – सईया अईले ना भवनवा | होली खेले तरसे मोर मनवा ना | सइयाँ अइले ना भवनवा | सबकर लऊटी अइले सजनवा ना | उड़ेला गुलाल अब गगनवा | छोड़ा नोकरिया सइया घरे चली आवा | होलिया मे सइया जनी छछनावा | धक धक धड़के मोर परनवा हो | सइयाँ अइले ना भवनवा | सइया तोहरी याद मोर बरसे नजरिया | फागुन मे रंगवा खेले तरसे गुजरिया | पगली कहे हमके जमनवा हो | सइयाँ अइले ना भवनवा | अइबा जे घरवा सोरहो सिंगार हम करब... »

जोगिरा

जोगिरा केवन देश मे जनम लिए घनश्याम | केवन देश मे जनम लिए राम भगवान | जोगिरा सारा रा रा रा रा | गोकुला मे जनम लिए घनश्याम | अयोध्या नगरी जनम लिए राम भगवान | जोगिरा सारा रा रा रा रा | केवन देश के नेता गरजे करे ऐलान | थर थर काँपे दुशमन बचावे आपण जान | जोगिरा सारा रा रा रा रा | भारत देश के नेता गरजे करे ऐलान | पड़ोसी देश के दुश्मन बचावे आपन जान | जोगिरा सारा रा रा रा रा | केवन देश के झण्डा फहरे ऊंचा आस... »

हिन्दी होली गीत – मत तरसाओ ना |

हिन्दी होली गीत – मत तरसाओ ना | होली मे तुमको ना छोड़ेंगे हम , मुझे मत तरसाओ ना | अबकी फागुन तुमको लगाएंगे रंग | मुझे मत तड़पाओ ना | गोरे गालो गुलाल लगाएंगे हम सारा | रंग देंगे कोरी चुनरिया गोरी हम तुम्हारा | डलवा लो रंग अबकी तुम रानी , मत छिप जाओ ना | होली मे तुमको ना छोड़ेंगे हम , मुझे मत तरसाओ ना | आओ खेले होली दोनों खेल रहा जमाना | बच ना पाओगी हमसे मत बनाओ बहाना | भर लेंगे बाहो मे तुमको जानी | तु... »

हिन्दी कविता- बसंत आने लगा |

हिन्दी कविता- बसंत आने लगा | बागो मे फूल कलियों बाहर अत्यंत आने लगा | मस्त मदन लिए अंगड़ाई देखो बसंत आने लगा | शरद ऋतु शने शने बिगत अब होने लगी | धूप की नरमी अब गर्मी मे बदल जाने लगी | गरम लिहाफ छोड़ मौसम सुखांत आने लगा | मस्त मदन लिए अंगड़ाई देखो बसंत आने लगा | फूलो भवरों की गूंज अब गुंजने को है | बहारों पराग पवन संग अब महकने को है | चिड़ियों चह चह दिग दिगंत गाने लगा | मस्त मदन लिए अंगड़ाई देखो बसंत आ... »

भोजपुरी होली गीत 2-हमके फगुनवा मे

भोजपुरी होली गीत 2-हमके फगुनवा मे | हमके फगुनवा मे ना तरसावा हो गुजरिया | तोहार रंग देईब ओढनी मारी पिचकरिया | हमके फगुनवा मे ना तरसावा हो गुजरिया | खेलबू नाही होरी त करब बलजोरी | आवा खेला होरी बना जनी रानी भोरी | मना जे करबू त बेकार होई उमरिया | हमके फगुनवा मे ना तरसावा हो गुजरिया | रंगवा लगाइब तोहके अबिरवा लगाइब | भरी अंकवरिया तोहके गरवा लगाईब | तू हउ राधा मोर हम हई सावरिया | हमके फगुनवा मे ना तर... »

भोजपुरी होली गीत 1-सगरो फगुनिया |

भोजपुरी होली गीत 1-सगरो फगुनिया | आवा गोरी रंग देई तोहरो बदनीया | देखा चढ़ल सबके सगरो फगुनिया | रंगे केहु गाल गुलाबी | केहु रंगे बाल शराबी | रंगवा लगाला ना होई खराबी | रंगवा हउवे प्रेमवा के चाबी | बोला गोरी रंग देई तोहरो ओढ़निया | आवा गोरी रंग देई तोहरो बदनीया | चढ़ल केहु पर फागुन क नसा | चढ़ल केहु पर होली क नसा | चढ़ल केहु पर सजनी क नसा | महकल काहे फागुन गोरी तोहरो जवनिया | आवा गोरी रंग देई तोहरो बदनी... »

भोजपुरी होली गीत 3-मस्त फागुन |

भोजपुरी होली गीत 3-मस्त फागुन | आया है मस्त फागुन उड़ती है तेरी चुनरिया | सर सर बहती है मह मह महकति है हवा | तुझे रंग लगाऊँगा मै हर हाल मे | होली खूब खेलूँगा आज मै | चलो मनाए फागुन | आया है मस्त फागुन उड़ती है तेरी चुनरिया | सर सर बहती है मह मह महकति है हवा | बागो बहारों कलियाँ खिलने लगी | फागुन महीने गोरी मचलने लगी | गोरी तू अन्जान मत बन | आया है मस्त फागुन उड़ती है तेरी चुनरिया | सर सर बहती है मह म... »

हिन्दी गजल- वतन को बचाने चले है |

हिन्दी गजल- वतन को बचाने चले है | लगा मजहबी आग आज वो वतन जलाने चले है | भड़का सियासी चिंगारी वो वतन मिटाने चले है | भरा नहीं दिल उनका फैला दंगा फसाद देश मे | है कितने हमदर्द उनके लोगो सब दिखाने चले है | करते बात देशहित हाथ दुशमनों मगर मिलाते है | लगा देश बिरोधी नारा रोज मजमा लगाने चले है | जवानो की शहादत पर ओढ़ लेते है खामोशिया | मौत दुशमनों पीट छाती वो मातम मनाने चले है | करते राजनीति पर करते काम द... »

हिन्दी गजल-संग जो चले होते |

हिन्दी गजल-संग जो चले होते | दो कदम तुम दो कदम हम संग चले होते | तन्हा न मै तन्हा न तुम कभी दोनों रहे होते | याद किया होता गर दिल से कभी तुमने मुझे | कभी ख्वाबो मे ही सही हम दोनों मिले होते | सिवा तेरी यादों के पास मेरे कुछ बचा नहीं | साथ दिया न वक्त वरना इश्क फूल खिले होते | कास की लौट आते हमारे वो बीते हुये लम्हे | मै तुम्हारा तुम हमारे अब मीत बन चले होते | ये मजबूरियाँ ये दूरियाँ खलती बहुत है म... »

हिन्दी गजल- हम सहने लगे |

हिन्दी गजल- हम सहने लगे | तेरे बेगैर तन्हा ही हम रहने लगे | याद तेरी अश्क आंखो बहने लगे | हुआ रुसवा शहर कोई बात नहीं | लेके तेरा नाम आशिक कहने लगे | रुसवाइयों से कभी मै डरता नहीं | बिछड़ न जाये बात हम डरने लगे| मै आशिक तेरा कबुल करता हूँ मै | आप साथ छोड़ मगर क्यो चलने लगे | साथ छोड़ दोगे कभी मैंने सोचा नहीं | लेके तेरा नाम पल पल यूं मरने लगे | सहने को सह लूँ हर जुल्म मै जमाने | तेरे इश्क हर सितम हम स... »

भोजपुरी होली 10- अपना सजनवा रे |

भोजपुरी होली 10- अपना सजनवा रे | उनके चढ़ल बाड़े मस्त फगुनवा रे | गोरी रंग देली अपना सजनवा रे | फागुन मे गोरिया के चढ़ल बाड़े मस्ती | मिलतू तू बहिया मे भरती | होलिया मे बहकल जोबनवा रे | गोरी रंग देली अपना सजनवा रे | चढ़ते फगुनवा उनकर गदरल जवनिया | फगुनी बयार उनकर फरकल बदनिया | खेले होली संग पियवा अंगनवा रे | गोरी रंग देली अपना सजनवा रे | नेहिया लगाके काहे कइलू दगाबाजी | होलिया मे सईया संगे करेलु कलाबाज... »

हिन्दी गजल- उसे बुझाओ लोगो |

हिन्दी गजल- उसे बुझाओ लोगो | टूट रहे जो रिश्ते भाईचारे उसे बचाओ लोगो | खींच रही जो दिवार दुश्मनी उसे गिराओ लोगो | जल रहा जो मकान वो हमारा और तुम्हारा भी | धु – धु हो रहा शहर सारा उसे बुझाओ लोगो | बढ़ाके दिलो दूरिया छुप गए सियासतदान कही | दहक रहा घर उनका भी उन्हे दिखाओ लोगो | उन्माद उत्पात और आगजनी कोई हल नहीं | मजहबी मर्ज की दवा कोई है बताओ लोगो | वो भी क्या दिन थे हर बात हम गले मिलते थे | अब... »

भोजपुरी होली 9 – कारी केसिया के झार |

भोजपुरी होली 9 – कारी केसिया के झार | बहे लागल फागुनी बयार | मह मह महके अमवा मोजरवा | छन छन छनके महुआ के कोचवा | अईले नाही सईया तोहार | गोरिया कारी केसिया के झार | पियर सरसो फुला गईली | हरियर मटर गदराई गईली | झीनी झीनी बहे पुरवा बयार | गोरिया कारी केसिया के झार | बैरी पवनवा दरदिया बढ़ावे बदनवा | महुआ के कोचवा चुएला मदनवा | सजनी चले अचरा के उड़ाय | गोरिया कारी केसिया के झार | फुलवा फुला गईले भवरा लोभ... »

भोजपुरी होली 8–सड़िया ले अइह |

भोजपुरी होली 8–सड़िया ले अइह | सड़िया ले अइह लाल लाल | ये सइया आ गईले फगुनवा | होलिया मे रंगब तोहरो गाल | ये सइया आ गईले फगुनवा | सड़िया के संगवा लाल चुनार ले अइह| औरी ले अइह चूड़िया लाल लाल | ये सइया आ गईले फगुनवा | गुलाल ले अइहा सईया अबीरवो ले अइह | रंगवा ले अइह लाल लाल | ये सइया आ गईले फगुनवा | कंगना ले अइह सईया कनबलिया ले अइह | टिकुली ले अइह लाल लाल | ये सइया आ गईले फगुनवा | सड़िया ले अइह लाल लाल |... »

भोजपुरी होली 7– आज भारत मे होली |

भोजपुरी होली 7– आज भारत मे होली | आज भारत मे होली रे सखिया | सिमवा चलावे जवान गोली रे सखिया | आज भारत मे होली रे सखिया | केकर मजाल भारत अँखिया देखावे | झट से जवान उनकर नसिया दबावे | सिमवा पर खेले भर झोरी रे सखिया | आज भारत मे होली रे सखिया | जब केहु ललकारे देश के जवनवा | मारी दुशमनवा उनकर हरी लेले परनवा | होलिया खेले ले मारी गोली रे सखिया | आज भारत मे होली रे सखिया | जीती के जंगवा खेले रंग पिचकरिय... »

भोजपुरी होली 6 -दिल्ली मे उड़ेला अबीर |

भोजपुरी होली 6 -दिल्ली मे उड़ेला अबीर | दिल्ली मे उड़ेला अबीर ,सुना लोग | मोदी जी महनवा छप्पन इंची सिनवा | बदले देशवा के तकदीर | दिल्ली मे उड़ेला अबीर ,सुना लोग | जबसे ई भईले प्रधान मंत्री देशवा | आगे टीके नाही केवनों बलबीर | दिल्ली मे उड़ेला अबीर ,सुना लोग | जब जब ललकारे पापी पाकिस्तनवा | मारी देले ओकरा के शमशीर | दिल्ली मे उड़ेला अबीर ,सुना लोग | होला जय जयकार भारत के जमनवा | बांधी दीहले दुशमन के जंज... »

भोजपुरी पारंपरिक होली 5-भंगिया पिये ना जा |

भोजपुरी पारंपरिक होली 5-भंगिया पिये ना जा | भोला भंगिया पिये ना जा | कहे गौरा भोला भंगिया पिये ना जा | भोला भंगिया पिये ना जा | पीना जो होतो भोला लस्सी तू पिला | आके अबीर गुललवा लगा जा | भोला भंगिया पिये ना जा | खाना जो हो तो खीर पूड़ी तू खा जा | जहर धतुरवा ना खा | भोला भंगिया पिये ना जा | खेलना जो हो होरी गौरा संग खेला | गणेश कार्तिक के रंगवा तू दे दा लगा | भोला भंगिया पिये ना जा | लगाना हो समाधि ... »

भोजपुरी पारंपरिक होली 4-कान्हा संग होली

भोजपुरी पारंपरिक होली 4-कान्हा संग होली सखी खेलब ना कान्हा संग होरी | हरदम करे उ बलजोरी | जब हम जाई जमुना किनरवा | देले मोर मटकी के फोरी | सखी खेलब ना कान्हा संग होरी | जब हम जाई फूल लोढ़े बगिया | खींचे मोर अँचरा के कोरी | सखी खेलब ना कान्हा संग होरी | जब हम जाई यमुना के बिचवा | करे मोर सड़िया के चोरी | सखी खेलब ना कान्हा संग होरी | जब हम जाई ब्रिन्दा रे बनवा | बंसिया बजाई नचावे राधा गोरी | सखी खेलब... »

भोजपुरी पारंपरिक होली 6 -दिल्ली मे उड़ेला अबीर |

भोजपुरी पारंपरिक होली 6 -दिल्ली मे उड़ेला अबीर | दिल्ली मे उड़ेला अबीर ,सुना लोग | मोदी जी महनवा छप्पन इंची सिनवा | बदले देशवा के तकदीर | दिल्ली मे उड़ेला अबीर ,सुना लोग | जबसे ई भईले प्रधान मंत्री देशवा | आगे टीके नाही केवनों बलबीर | दिल्ली मे उड़ेला अबीर ,सुना लोग | जब जब ललकारे पापी पाकिस्तनवा | मारी देले ओकरा के शमशीर | दिल्ली मे उड़ेला अबीर ,सुना लोग | होला जय जयकार भारत के जमनवा | बांधी दीहले दुश... »

भोजपुरी पारंपरिक होली 5-भंगिया पिये ना जा |

भोजपुरी पारंपरिक होली 5-भंगिया पिये ना जा | भोला भंगिया पिये ना जा | कहे गौरा भोला भंगिया पिये ना जा | भोला भंगिया पिये ना जा | पीना जो होतो भोला लस्सी तू पिला | आके अबीर गुललवा लगा जा | भोला भंगिया पिये ना जा | खाना जो हो तो खीर पूड़ी तू खा जा | जहर धतुरवा ना खा | भोला भंगिया पिये ना जा | खेलना जो हो होरी गौरा संग खेला | गणेश कार्तिक के रंगवा तू दे दा लगा | भोला भंगिया पिये ना जा | लगाना हो समाधि ... »

भोजपुरी पारंपरिक होली 4-कान्हा संग होली

भोजपुरी पारंपरिक होली 4-कान्हा संग होली सखी खेलब ना कान्हा संग होरी | हरदम करे उ बलजोरी | जब हम जाई जमुना किनरवा | देले मोर मटकी के फोरी | सखी खेलब ना कान्हा संग होरी | जब हम जाई फूल लोढ़े बगिया | खींचे मोर अँचरा के कोरी | सखी खेलब ना कान्हा संग होरी | जब हम जाई यमुना के बिचवा | करे मोर सड़िया के चोरी | सखी खेलब ना कान्हा संग होरी | जब हम जाई ब्रिन्दा रे बनवा | बंसिया बजाई नचावे राधा गोरी | सखी खेलब... »

भोजपूरी लोकगीत (पूर्वी धुन ) – तोहरो संघतिया

भोजपूरी लोकगीत (पूर्वी धुन ) – तोहरो संघतिया याद आवे जब तोहरो संघतिया | करे मनवा तनवा के झकझोर | बिसरे नाही प्रेमवा के बतिया , बरसे मोरे नयनवा से लोर | याद आवे जब तोहरो संघतिया | कइके वादा हमके बिसरवला | तोड़ी नेहिया के बहिया छोडवला | सुनाई केतना हम आपन बिपत्तिया | मिले नाही हमके कही ठोर | याद आवे जब तोहरो संघतिया | तोड़े के रहे काहे दिलवा लगवला | सुघर काहे हमके सपना देखवला | साले हमके तोहार सावर सु... »

हिन्दी ओज कविता-अभिनन्दन बना लेंगे |

हिन्दी ओज कविता-अभिनन्दन बना लेंगे | मिट्टी वतन सिर माथे चन्दन बना लेंगे | ऊंचा तिरंगा भारत सदा वंदन बना लेंगे | रंगी शहीदो खून आजादी नमन उनको | कुर्बानी शहीदों हम वचन बंधन बना लेंगे| आजाद भारत आ पहुंचा किस मुकाम तक | बिगड़े हालात इसे ब्रिज नन्दन बना लेंगे | लाख तूफानो बुनियाद कोई हिला न सका | हर वीर जवानो हिन्द अभिनन्दन बना लेंगे | चाल चलता दुशमन मगर पार पाता नहीं | मोदी अमित डोभरवाल दुश्मन क्रंदन... »

हिंदी गजल- अब सफा कीजिये |

हिंदी गजल- अब सफा कीजिये | टूटे रिश्तो मे जान बाकी हो अगर , प्यार से सींचकर अब वफा कीजिये | काँच के जैसा होता है दिल का रिस्ता यहा | टूट न जाये दील अब बचा कीजिये | लाखो मिल जाएँगे सबको सबकी जवानी मे | ढल जवानी हमसफर अब ढूंढा कीजिये | तेरी दौलत के खातिर है चाहने वाले कई | करता कौन मोहब्बत अब पता कीजिये | हुशनों जवानी के है सब भूखे यहा | जल जाये जवानी जुल्मो न खता कीजिए | दिल की बात दिल मे न रखिए जन... »

हिन्दी गजल- मुझको भुलाए है |

हिन्दी गजल- मुझको भुलाए है | दिल मे क्यो मेरे आप समाये है | ख्वाब आंखो क्यो आप दिखाये है | जिधर भी देखिये आप का नजारा है | क्या बताए कैसे मैंने रैन बिताए है | होके बेखबर आप चैन से सोते है | रातो को जाग आँसू मैंने बहाये है | अंजुमन मे हम तन्हा नजर आते है | दिल लगा क्या खोये क्या पाये है | हुआ रुसवा तेरे खातिर जमाने मे | तेरे नाम लोगो ने कितना सताये है | तड़पता है दिल आपकी नजर को | कर लूँ दीदार पलके ... »

हिन्दी गीत- क्यो हुआ

हिन्दी गीत- क्यो हुआ मुझे पहली बार प्यार हुआ | यार क्यो हुआ | झूठा ही कोई दिलदार हुआ | यार क्यो हुआ | मैंने चाहा नहीं मैंने सोचा नहीं | हुआ क्या मुझको पता नही | क्यो उसका मुझे इंतजार हुआ | यार क्यो हुआ | था मै बेपरवाह कितना मजा था | होगी उसकी चाह किसको पता था | मै क्यो इतना लाचार हुआ | यार क्यो हुआ | धड़कने नाम उसका लेती है | बिना उसके न जागती न सोती है | मै उसका बड़ा तलबगार हुआ | यार क्यो हुआ | हर ... »

भोजपुरी गीत- काहे भुला गइलू |

भोजपुरी गीत- काहे भुला गइलू | दिलवा लगाके काहे भुला गइलू | भईल केवन कसूर काहे कोहा गइलू | तोड़ दिहलु दिलवा काँच के टुकड़ा जईसन | लगे सुरतिया टोहार चाँद के मुखड़ा वईसन | छोड़ी हमके काहे रुला दिहलु | दिलवा लगाके काहे भुला गइलू | पवन झंकोरा उड़े केसिया बड़ा निक लागे | चमचम चमके लाल बिंदिया बड़ा निक लागे | कोमल दिलवा ठोकर लगा गइलू | दिलवा लगाके काहे भुला गइलू | आवा तोहे दिलवा के रानी हम बनाइब | प्रेमवा के गि... »

भोजपुरी लोकगीत (पूर्वी ) – सालेला ये राम |

भोजपुरी लोकगीत (पूर्वी ) – सालेला ये राम | अब ना सहब ये मोदी जी , देश बिरोधी घतिया ,दुशमन के बोलीया , लागेला ये राम ,दुशमन के बोलिया | अस मन करे उनके देशवा भगवती , सविधनवा के बतिया याद आवेला ये राम | लागेला ये राम ,दुशमन के बोलिया | होते यदि दुश्मन बहरिया , उनके गोलिया चलवती ,देशवा के लोगवा सालेला ये राम दुशमन के बोलिया | लागेला ये राम ,दुशमन के बोलिया | जाये के पड़ी एक दिन सिमवा के ओरिया। मनवा जहि... »

बधाई हो बधाई

आया नव वर्ष बधाई हो बधाई लेकर आया नव वर्ष घर आपके खुशियो का सौगात | बधाई हो बधाई | मिटाने हर संकट विपदा बीघ्न बीमारी और आघात | बधाई हो बधाई | अँग्रेजी वर्ष पर विश्व पैमाना इसको सबने माना है | हो उन्नति प्रगति सुख संपत्ति शांति वर्ष बीस ने सुनाई | बधाई हो बधाई | सुखी हो परिवार आपका मंगल हो संसार आपका | दुख दारिद्र दूर हो अन्न धन भरपुर हो होगी भलाई | बधाई हो बधाई | पूरी हो हर कामना पड़े न कभी दुखो का... »

याद बहुत आएगी

हिन्दी कविता- याद बहुत आएगी | वर्ष उन्नीस हमे तेरी याद बहुत आएगी | जो हुआ अच्छा बुरा याद बहुत आएगी | उन्नति अवनति प्रगति के पथ पर चले | खट्टा मीठा तीखा सबका स्वाद हम चखे | यादगार वर्ष रहा उन्नीस दुनिया कहेगी | वर्ष उन्नीस हमे तेरी याद बहुत आएगी | धारा तीन सौ सत्तर हटी कश्मीर बेड़ि कटी | तीन तलाक हटा महीलाओ गुलामी छंटी | कोर्ट फैसला राम मंदिर दुनिया पूजा करेगी | वर्ष उन्नीस हमे तेरी याद बहुत आएगी | ... »

जमाने लगे

हिन्दी गजल- जमाने लगे | जिस बस्ती बसाने मुझे जमाने लगे | बेदर्दी वो मकाने दिल गिराने लगे | जब भी गुजरे वो राहे मंजिल मेरे | लेकर नाम उनका हम बुलाने लगे | सबब रूठने वो मुझको बताता नहीं | मिला आशिक नया दास्ता सुनाने लगे | रहती उदास बिन आपके कहते थे | मेरी हर यादों लम्हो वो भुलाने लगे | लाल बिंदिया लाल सिंदूर धरे रह गए | पकड़ गैर हाथ मांग वो सजाने लगे | है कितना दर्दे दिल उसे मालूम नहीं | जख्मी दिल हम... »

जड़वा में रतिया

भोजपुरी गीत- जड़वा मे रतिया | कटले कटात नईखे जड़वा मे रतिया | गरिबिया मे जड़वा के अइली बिपत्तिया | सईया सांगवा रहते त रजईया लीवते | सांगवा लइकन अपने कोरवा सुतवते | साले अहमे अपने सइया के सुरतिया | कटले कटात नईखे जड़वा मे रतिया | सर सर पवनवा बदनवा कपावेला | जड़वा मे रतिया हमके नींदियों ना आवेला | केकरा कही हम आपन दिलवा के बतिया | कटले कटात नईखे जड़वा मे रतिया | टुटल मड़ईया हमरो चरपइयो बाड़ी टुटल | केवन सौत... »

माया में लोभाई

भोजपुरी निर्गुण – माया मे लोभाई | नईहर के छोड़ी आइलू ससुरा के घर मे | माया लोभाई भुलइलू आपन सजन ये राम | झूठ साँच बोली पपवा बसवलु अपना मन मे | सोन पिंजरवा छोड़ी सुगना उड़ी जईहे गगन ये राम | माया लोभाई भुलइलू आपन सजन ये राम | पियावा के छोड़ी नेहिया लगवलु देवर ये राम | जनिहे जे भेदवा सजना निकली न मूहवा बचन ये राम | कईलु ना दान धरमवा जिनगी फसवलु भवर ये राम | माया लोभाई भुलइलू आपन सजन ये राम | जाई ससुरवा ... »

भारत भाग्य जगाओ

हिन्दी ओज कविता- भारत भाग्य जगाओ जागो हे महाकाल हे महादेव हे हरिहरनाथ तुम | करो दंडित दानवो देशद्रोहियों हे भूतनाथ तुम | विपदा भारी भारत आज अब आन पड़ी है | खंडित करने राष्ट्र दानव सेना चल पड़ी है | जाती धर्म मजहब की आग देश लगाते है | देश बिरोधी आजादी आवाज सब लगाते है | दो सद्बुद्धि सद्द्विचार देशप्रेम हे शम्भूनाथ तुम | भारत भाल टीका काला लगने कभी न पाये | साजिश सियासत भारत जलने कभी न पाये | भोली भाल... »

पुर्वी लोक गीत चले ठंडी बयरिया ये सजनी

भोजपुरी पूर्वी लोकगीत – चले ठंडी बयरिया ये सजनी | मुखड़ा – चले ठंडी बयरिया ये सजनी , कांपेला बंदनवा मोर | जल्दी से भरीला अंकवरिया लागेला जड़वा बड़ी ज़ोर | चले ठंडी बयरिया ये सजनी , कांपेला बंदनवा मोर | अंतरा 1 – सुना मोर अँखियाँ के पुतरी , भईले प्यार तोहसे मोर | बिना तोहरे तरसे नजरिया , उठेला कर्जवा मे हिलोर | चले ठंडी बयरिया ये सजनी , कांपेला बंदनवा मोर | अंतरा 2 -पतरी कमरिया अँखिया बाड़ी ... »

जान तोहरी याद में

भोजपुरी गीत- जान तोहरी याद मे | जान तोहरी याद मे हमरो रहल दुश्वार बा | तोहरे बिना गोरी हमरो जियल बेकार बा | नैना लड़ाई हमसे चैना छिन लिहलु | हमके रोवाई हमरो रैना छिन लिहलु | गोरी तोहरे याद मे भुलली दिन अतवार बा | जान तोहरी याद मे हमरो रहल दुश्वार बा | दिल के मंदिरवा तोहे देवी बनवली | सपना मे रानी महलिया रची बनवली | दिलवा जनी तोड़ा तोहार नैना खतावार बा | जान तोहरी याद मे हमरो रहल दुश्वार बा | गाँव के... »

चंद शेर

चंद शेर /मुक्तक लाख करो साजिस बुनियाद हिन्द कोई हिला सकता नही | क्रांतिबिरो बलिदान जवानो सहादत कोई भुला सकता नहीं | श्याम कुँवर भारती [राजभर] भारत की मिट्टी माथे तिलक चंदन लगाएंगे हम | मातृभूमि के चरणों वंदनऔर सिस झुकाएँगे हम | खाया नमक इस धरती नहीं नमक हरामी करेंगे | जान जाये तो जाये बदला नमक चुकायेंगे हम | श्याम कुँवर भारती [राजभर] अखंड भारत खंड खंड क्या टुकड़े गैंग करेंगे | छप्पन इंची सिनावाला न... »

अमन चैन न हो

हिन्दी गजल- अमन चैन न हो सियासत कैसी जिसमे अमन चैन ना हो | साजिस ऐसी जहा भाई से भाई प्रेम ना हो | समझते है हम सब जिसे मसीहा अपना | लगे धारा एक सौ चौवालिस जुलूस बैन ना हो | चमकाने सियासत किस हद तक जाएँगे | आलाप बेसुरा राग जिसमे कोई धुन ना हो | सही को बताकर गलत हासिल होगा ना कुछ | बनेगा कैसे रहनुमा जिसमे कोई गुण ना हो | लड़वाकर भाई से भाई को तुम भी ना बचोगे | खुलेगा नहीं खाता कुर्सी अच्छा सगुण ना हो ... »

दुश्मन भाई में

भोजपूरी लोकगीत (धोबी गीत )- दुशमन भाई के हमरे देशवा के लागल केवना के नजर | लोगवा दुशमन भईले भाई मे | दंगा फइलल सगरो गाँव शहर | रचले साजिश गिरावे देशवा खाई मे | सबसे महान हऊवे हमरो भारत देशवा | दुनिया कप्तान हउवे हमरो भारत देशवा | काहे भटकल लोगवा आपन डहर | लोगवा दुशमन भईले भाई मे | मोदी जी महान बनवले नया रे कानूनवा | हिन्दू सिक्ख जैनी मिली रहे भारत मे ठीकनवा | मुस्लिम रहिहे मिलिके देशवा मे निडर | ल... »

पुर्वी गीत कररवा ये रजऊ

भोजपुरी पूर्वी लोक गीत- कररवा ये रजऊ कई के कररवा ये रजऊ| करेजा काहे काढ़ी हो गईला | पलटी के ना देखला ये करेजउ | धोखा मे हमके डाली हो गईला | बोला बोला ये बेईमनवा | कईला काहे करेजवा कठोर | देखाई के हमके सपनवा | बीच भवरा छोड़ी हो गईला | कई के कररवा ये रजऊ| सुना सुना ये घटिहउ छतिया फाटेला हमार | पकड़ी के हमरो कलईया | छोड़ी हमरा तू छलिया हो भईला | कई के कररवा ये रजऊ| आवा आवा हमरे लगवा आवा | माना ना बतिया ह... »

दिल्ली शहरिया देखा दा

भोजपुरी गीत- दिल्ली शहरिया देखा दा मोर बलमुआ हो हमके दिल्ली शहरिया दिखा दा | दिल्ली मे जाई कुतुबमिनरिया घूमा दा | मोर बलमुआ हो हमके दिल्ली शहरिया दिखा दा | सुनीला के दिल्ली दिलवालन के नगरिया | संसद भवनवा लाल किलवा के नजरिया | कनाट पलेसवाके मीना बजरिया घूमा दा | मोर बलमुआ हो हमके दिल्ली शहरिया दिखा दा | मोर भारत देशवा के दिल्ली हउवे रजधानिया | बड़े बड़े मंतरी औरी बड़ी बड़ी मकनिया | चाँदनी चौकवा के राबड़... »

भोजपुरी गीत-ये देवर जी

भोजपुरी गीत- ये देवर जी अपने भईया से बोली भेजवा दा रज़ाई ये देवर जी | आवेना हमके जड़वा मे ओंघाई ये देवर जी | आई गईले पुस जड़वा के दिनवा | थरथर कंपावे बैरी पुसवा महीनवा | टुटल केवड़िया कईसे लगाई ये देवर जी | आवेना हमके जड़वा मे ओंघाई ये देवर जी | ठंढी बयरिया बैरी देहिया कम्पावेला | रतिया के बेरिया खूब हमके सतावेला | छोट बलकवा बोला कहवा सुताई ये देवरजी | आवेना हमके जड़वा मे ओंघाई ये देवर जी | जबसे ऊ गईले ... »

भोजपुरी गीत- अपने देशवा के

भोजपुरी गीत- अपने देशवा के

भोजपुरी गीत- अपने देशवा के तनी बने दा कपतान गोरी हमके देशवा के | बदला चुकाइब तहिया हमहु अपने देशवा के | तनी बने दा कपतान गोरी हमके देशवा के | जाइब जहिया सिमवा दुशमनवा ललकारब | फटी जाई छतिया दुशमन जईसे शेरवा दहाड़ब | मारी गिराइब गोलिया सबके निमनवा से | तनी बने दा कपतान गोरी हमके देशवा के | डरब नाही तनको हमरो छप्पन इंची छतिया | ओढ़ब कफन तिरंगवा सुना मोर संघतिया | घुसे नाही देईब घुसपैठिया एको बिदेशवा क... »

हिन्दी कविता – ये राजनीती है |

हिन्दी कविता – ये राजनीती है |

हिन्दी कविता – ये राजनीती है | न कोई सिद्धान्त न ईमान ये राजनीति है | न कोई भगवान न शैतान ये राजनीति है | जो है आज दोस्त कल बन जाएंगे दुश्मन | न कोई हिन्दू न मुसलमान ये राजनीति है | मिले पद पावर जोड़ तोड़ करना पड़ता है | डूबे या उबरे सारा हिंदुस्तान ये राजनीति है | देश मे हो हजारो समस्याए तो रहने दो | बैठे कुर्सी अपना खानदान ये राजनीति है | कहते कुछ और करते कुछ और है सब | चाहे सारी जनता हो परेसान ये ... »

Page 2 of 3123