मीत

बिछड़ गए मीत जिनके,
मनवा उन्हें बुलाये

छाये घटा सावन की जब,
नैना भर भर आये

मन सावन गीत गए,
मेरा पिया,जब घर आये

-विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)-

Related Articles

Responses

New Report

Close