Other

शेर शायरी

ये आखरी है सिलसिला प्यार का नही । अभी तो जीने की ज़ुस्तज़ु हुई है। »

शेर शायरी

ये आखरी है सिलसिला प्यार का नही। अभी तो जीने की ज़ुस्तज़ु हुई है । »

अंजाम

जब प्यार से ज्यादा लड़ाईयां हो, जब मिलन से ज्यादा तन्हाईयां हो। ऐसे रिश्तो का न कोई वजूद होता है, टूटकर बिखरना अन्तिम अंजाम होता है।। »

10:30 AM

सर्दी की दस्तक़ तुम आओगी न ये कोहरे वाली रातें आने को है सर्दी की दस्तक हल्की हल्की सुनाई दे रही है थोड़ा जल्दी आना, हम तो यही है पिछली मुलाक़ात से तुम जाने को कहती हो तुम जल्दी आना जो जल्दी जा सको, वैसे भी कल आऊँगी बोलकर गयी थी, आज बरसों बीत गए तुम्हारे कल को, सो आओगी तो एक काम करना घर पर कल आउंगी बोलकर आना, शायद जाने में तुम्हें बरसों लगें, सहर अब कुछ ठंडी होने लगी है सर्दी की दस्तक हल्की हल्की सुन... »

मुलाकात

आया हूँ तेरे शहर मे पल भर की ही सही पर मुलाकात हो जाये। बैठकर आमने-सामने कुछ बीते हुये लम्हों के सवालात हो जाये। »

aisa ban jaaye

chahat hai baarish ki tarah baras jaye ..chidiyon ki tarah chahak jaye …………. .pusp ki tarah mahak jaye .chahat hai aisa ban jaye ki mere liye har koi tarash jaye … chahat hai baarish ki tarah baras jaye »

मन

मन प्रभु! जो हो तेरी कृपा तो सबका जीवन धन्य हो जाये।  आपके आशीष से मेरा मन भी पानी-सा सौम्य हो जाये।। »

Koshish

अब कोशिश निरन्तर जारी है, कुछ बेहतर करने की तैयारी है। दुनिया मे भारत का नाम भी हो, जन मानस का खूब कल्याण भी हो। »

Court

मोमबत्ती जलाने से अब कुछ न होगा, कोर्ट के चक्कर लगाने से कुछ न होगा। बलात्कारियो को एक बार जिन्दा जलाकर तो देखो….. फिर किसी ‘निर्भया’ और ‘आसिफा’ का बलात्कार नही होगा।। »

बदल गये हो तुम

कितना बदल गये हो तुम इंतजार किया जी भर कर उनसे मिलने की कोशिश भी की, कहाँ रह गये वो जिन्होने हर वादा निभाने की कसम भी ली। आसान भी तो नही है सूर्य की किरणों की तरह बिखर जाना, खुद की खुशियों को न्यौछावर कर दूसरो को खुशी दे जाना। माना बहुत व्यस्त है जिन्दगी की उलझनों मे वह आजकल, पर कहाँ रह गये जो मुझे याद करते थे हर दिन हर पल। शायद खुशी मिलती होगी तुम्हे मुझे यूं तड़पता हुआ देखकर, मेरा क्या?तुम खुश रह... »

Page 1 of 42123»