अनमोल रचनाएं

कवि की अकुलाहट बोल रही,
बिन लिखे कलम दम तोड़ रही।

रचनाएं हैं अनमोल सभी,
सिक्कों से इनकी तोल नहीं।
निमिषा


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

1 Comment

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - January 7, 2021, 9:26 pm

    वाह

Leave a Reply