तुम भी तो इक माँ हो आखिर..

जैसे गोरे गालों पर माँ काला टीका करती थी
तुमने काली रातों में इक उजला चांद सजाया है

तुम भी तो इक माँ हो आखिर..

– सोनित

www.sonitbopche.blogspot.com


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

पिता

माँ

माँ

माँ

माँ

3 Comments

  1. Lokendra Singh - June 21, 2016, 12:33 pm

    Behtareen

  2. ABHISHEK SHARMA - June 21, 2016, 4:59 pm

    bahut khoob

Leave a Reply