तेरा सजदा – 22

तेरा सजदा – 22

      

कोई तुझे भूखा रह कर जपता

कोई भर पेट खा कर ना जपता

                       

                                   ….. यूई

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Poet, Film Screenplay Writer, Storyteller, Song Lyricist, Fiction Writer, Painter - Oil On Canvas, Management Writer, Engineer

Related Posts

तेरे न होने का वज़ूद

SHAYARI

The Candle and The Moth

To Love in Chains

Leave a Reply