मुक्तक

मेरे हरेक पल का इंतजार हो तुम!
मेरी ज़िन्दगी का ऐतबार हो तुम!
मेरी मंजिलें हैं अब तेरी आरजू,
मेरी धड़कनों में बेशुमाऱ हो तुम!

Composed By #महादेव

Related Articles

Responses

New Report

Close