स्मृति शेष

ईमेल, चैटिंग ही अपना भविष्य
क्या हस्तलेखन अब है स्मृति शेष ?
नववर्ष का कार्ड नहीं
प्रेमपत्र लेखन स्वीकार नहीं
कलम कागज का जमाना बना अतीत विशेष
क्या हस्तलेखन अब है स्मृति शेष ?
क्या बस गोल वृत को काले-नीले से
भरकर पूर्ण करन ही इसकी जिम्मेदारी
हस्ताक्षर करने को ढूंढा करते नर- नारी
शर्ट की शोभा नहीं मांगने की लगी बीमारी
नहीं रह पाएगी यह सर्जनात्मक क्षमता विशेष
क्या हस्तलेखन अब है स्मृति शेष ?


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

भोजपुरी चइता गीत- हरी हरी बलिया

तभी सार्थक है लिखना

घिस-घिस रेत बनते हो

अनुभव सिखायेगा

2 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - January 28, 2021, 7:52 am

    बहुत सुंदर

  2. Geeta kumari - January 28, 2021, 4:34 pm

    समसामयिक यथार्थ चित्रण प्रस्तुत करती हुई सुंदर रचना

Leave a Reply