कल ही आ जाना बहना तू

कल ही आ जाना बहना तू
परसों तो रक्षाबंधन है,
कुछ देर बैठकर बचपन की
यादों को ताज़ा कर लेंगे।
तू भी अपने में व्यस्त हो गई
हमको भी फुर्सत न रही
अब कल ही आ जाना बहना,
परसों तो रक्षाबंधन है।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

9 Comments

  1. Pragya Shukla - August 1, 2020, 10:55 pm

    सुन्दर भाव।
    कुछ देर बैठ कर बचपन की यादों को..nice line

  2. Geeta kumari - August 1, 2020, 10:59 pm

    भाई का अपनी बहन को इतने प्यार व मनुहार से बुलाना….वाह — अति सुंदर

  3. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - August 1, 2020, 11:37 pm

    Behtrin kavya

  4. Anjali Gupta - August 2, 2020, 12:13 am

    nice

Leave a Reply