कानून

किसी भी कानूनी दफा से बेख़ौफ़ हूँ मै,
तेरी मोहब्बत ऐ हथकड़ी में कैद हूँ मैं।।
राही (अंजाना)

Related Articles

Responses

New Report

Close