क्या मैं तुम्हें चूम लूँ

“क्या मैं तुम्हें चूम लूँ?”
डल झील. पूरे चाँद की रात.
उसने डरते हुए पूछा।

“हश्श्, नाव डूब जाएगी”, वो बोली

“तो क्या करें?”

वो मुस्कुराई और बोली “डूब जाने दो”
और वो सहम गया


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

I love Poetry !!

Related Posts

तेरे न होने का वज़ूद

SHAYARI

The Candle and The Moth

To Love in Chains

1 Comment

Leave a Reply