नौ मिनट के लिए

नौ मिनट के लिए भूल जा तू हिंदू-मुसलमाँ
आज इंसानियत के लिये दीप जला दे

Related Articles

Responses

New Report

Close