मीठी सुपारी

जिंदगी भी

मीठी सुपारी के दाने-सी हो गई है |

कुछ देर तक भरपूर मिठाश देती है |

लेकिन हलक से उतरते ही

गला दुखा देती है | 😛 😀

[It’s humorous. Don’t try to feel 🙂 ]

-Bhargav Patel (अनवरत)

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

7 Comments

  1. Akanksha Malhotra - January 19, 2017, 9:54 am

    मीठी सुपारी के दाने-सी हो गई है |,,,,मिठास की उपमा बेहतरीन है

  2. Mamta Rajshree - January 19, 2017, 10:31 am

    good

  3. देव कुमार - January 19, 2017, 11:12 am

    So Nice

  4. Bhargav Patel - January 19, 2017, 2:42 pm

    Thank you 🙂

  5. Bhargav Patel - January 19, 2017, 2:43 pm

    धन्यवाद!! 🙂

Leave a Reply