वनवास की असहज यात्रा पर आर्यन ( गीत )

अब आर्यपुत्र आर्यन सिंह का हृदय सांसारिक वस्तुओं से हटकर बैराग्य की तरफ आकर्षित होने लगा
सो उन्होने विशुद्ध सरल भावनाओं को लेखनी के माध्यम से हम तक पहुंचाया –

शून्य मार्ग पर चला पथिक बन वेश बनाकर वनबासी
जीवन का उद्देश्य निभाने चला अकेला सन्यासी ।।

कर्मयोग से बिमुख रहा हूं तबसे ठोकर खाता रहा
जहां भी गया मिली नाकामी हर कोई ठुकराता रहा

शायद मैं अनजान रहा ये मंजिल किसकी अभिलाषी
जीवन का उद्देश्य निभाने चला अकेला सन्यासी ।।

भटक भटक कर अटक गया जब कहीं किनारा मिला नही
डूब रहा मंझधार मध्य पर कहीं सहारा मिला नही
बस पत्थर सा दीप्तिमान ये लगता था मथुरा काशी
जीवन का उद्देश्य निभाने चला अकेला सन्यासी ।।

हारा थका मुसाफिर मन से तन भी सारा थकित हुआ
फिर जब किया एकान्त मनन तो हृदय हमारा चकित हुआ
जान गया मेरी शुद्ध आत्मा परम तत्व की है प्यासी
जीवन का उद्देश्य निभाने चला अकेला सन्यासी ।।

जहाँ शान्ति सौंदर्य ब्रह्म का उसी ओर चल पड़ा हूं मैं
कर्मयोग परब्रह्म खोज मे तपोमार्ग पर खड़ा हूं मैं

सुत ‘आर्यन’ को शरण मे लो प्रभु हे गुरूजन हे घटवासी
जीवन का उद्देश्य निभाने चला अकेला सन्यासी ।।

जहाँ मिलेगा अगम मार्ग सब कार्य सहज हो जाएगा
फिर क्या सहज रहे जग मे जब जगतपिता को पाएगा

यही धर्म है यही कर्म है यही क्षेत्र है सुखरासी
जीवन का उद्देश्य निभाने चला अकेला सन्यासी ।।

भागवत कथावाचक व लेखक आर्यपुत्र आर्यन जी की पुस्तक से उद्घृत।

Related Articles

कोरोनवायरस -२०१९” -२

कोरोनवायरस -२०१९” -२ —————————- कोरोनावायरस एक संक्रामक बीमारी है| इसके इलाज की खोज में अभी संपूर्ण देश के वैज्ञानिक खोज में लगे हैं | बीमारी…

“काशी से कश्मीर तक सद्भावना यात्रा सन1994”

“काशी से कश्मीर तक सद्भावना यात्रा सन1994” किसी भी यात्रा का उद्देश्य सिर्फ मौजमस्ती व् पिकनिक मनाना ही नहीं होता | यात्राएं इसलिए की जाती हैं…

प्यार अंधा होता है (Love Is Blind) सत्य पर आधारित Full Story

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ Anu Mehta’s Dairy About me परिचय (Introduction) नमस्‍कार दोस्‍तो, मेरा नाम अनु मेहता है। मैं…

जंगे आज़ादी (आजादी की ७०वी वर्षगाँठ के शुभ अवसर पर राष्ट्र को समर्पित)

वर्ष सैकड़ों बीत गये, आज़ादी हमको मिली नहीं लाखों शहीद कुर्बान हुए, आज़ादी हमको मिली नहीं भारत जननी स्वर्ण भूमि पर, बर्बर अत्याचार हुये माता…

Responses

New Report

Close