****सोचना भी मत में कमजोर नहीं**

****सोचना भी मत में कमजोर नहीं ****
मुझे अपना पसंद का चिकन ब्रियनि खाने की तरह सोच कर खाने  की सोचना मत भी मत
मेरे करीब आकर मुझे छूना भी मत , में कमजोर नहीं
ओरत हूँ तो किया अपनी नजरों से नोच नोच कर खाओगे मुझे ? सोचना भी मत आँखों को नोच डालूंगी
माँ के माना  करने  बाद  भी मेने अपने नाखून  बढा लिए हें
माना मेरा जिस्म ,नरम ,नाजुक हैं ,मखमली हैं गोरा हैं , वो मुझे भगवान ने इस लिए बनाया
में एक मासूम को अपनी गोद में माँ बनकर फूलों सा अहसास दे सकूँ ,अपने मखमली आँचल  की छावं  दे सकूँ
तो किया गिद्द जैसी नजरों से  मुझे खरोंच खरोंच कर  खा जाओगे
खुली पलकों से दबोच कर खा जाने की लालसा न रखना वरना मुहं  नोच डालूंगी में
मुझे दिखाई देती हैं कभी कभी लार में लिपटी हुई गन्दी हबस की खामोश लालशा
गंदे गंदे लफ्जों से तो नोच नोच कर न खाने दूंगी तुमको ,सोचना भी मत में कमजोर नहीं
दिल का कालापन देख रही  हूँ मुझे  होठो से छूने की कोशिश न करना
**कमसिन हैं  नाजुक  हैं पर कमजोर नहीं ये ओरत  में ये तुमको बतलाती हूँ
कमजोर नहीं हूँ में सोचना भी मत आज ये जतलाती हूँ में ****
गौरी गुप्ता  २७/५/२०१६

Related Articles

प्यार अंधा होता है (Love Is Blind) सत्य पर आधारित Full Story

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ। निर्विघ्नं कुरु मे देव सर्वकार्येषु सर्वदा॥ Anu Mehta’s Dairy About me परिचय (Introduction) नमस्‍कार दोस्‍तो, मेरा नाम अनु मेहता है। मैं…

कोरोनवायरस -२०१९” -२

कोरोनवायरस -२०१९” -२ —————————- कोरोनावायरस एक संक्रामक बीमारी है| इसके इलाज की खोज में अभी संपूर्ण देश के वैज्ञानिक खोज में लगे हैं | बीमारी…

Responses

New Report

Close