आज कर दूं, आंखें नम

आज कर दूं, आंखें नम या समंदर कर दूं ,
मेरे भीतर का वो दर्द ; कैसे संदल कर दूं।

Related Articles

Responses

New Report

Close