काव्य रत्न सम्मान से सम्मानित हुए विनय शास्त्री

अन्तर्राष्ट्रीय शब्द सृजन संस्थान गाजियावाद के तत्वावधान में आयोजित भारत रत्न विजेताओं के जीवन पर आधारित कालजयी ग्रंथ भारत के भारत -रत्न के भव्य लोकार्पण समारोह नई दिल्ली के हिन्दी भवन में विगत 15 मई रविवार को सम्पन्न हुआ। संस्था के राष्ट्रीय अध्यक्ष आदरणीय डाॅ राजीव पाण्डेयजी और महासचिव श्री ओंकारनाथ त्रिपाठी जी के अथक परिश्रम के परिणामस्वरुप देश- विदेश के 301 कवियों के माध्यम से भारत रत्न विषय पर स्वरचित काव्य का आनलाईन पाठ सिर्फ बारह घंटे करा कर उनमें से चुनिन्दा 215 रचनाओं को ग्रंथ रुप में प्रकाशित करना गौरव की बात है। कार्यक्रम की अध्यक्षता विश्व विख्यात साहित्यकार पद्मश्री डाॅ श्याम सिंह शशि, विशिष्ट अतिथि सुदर्शन चैनल के मालिक श्री सुरेश चौहान ,मुख्य अतिथि नागरी लिपि के अध्यक्ष डाॅ हरिसिंह पाल, हिन्दी अकादमी के संरक्षक इंदिरा मोहन जी एवं संस्कृत के प्रकांड विद्वान डाॅ जीतराम भट्ट ने ग्रंथ को अद्भुत साहित्य और ऐतिहासिक धरोहर कहकर सम्मानित किया।
इस संदर्भ में बस्सी पठाना के पंडित विनय शास्त्री को काव्य रत्न सम्मान से सम्मानित करते हुए डाॅ हरिसिंह पाल ने साहित्यकार को ब्रह्माजी कहकर अलंकृत किया। इसके साथ ही गोल्डेन बुक आॅफ वल्ड रिकार्ड से भी सम्मानित किए गए।

Related Articles

दुर्योधन कब मिट पाया:भाग-34

जो तुम चिर प्रतीक्षित  सहचर  मैं ये ज्ञात कराता हूँ, हर्ष  तुम्हे  होगा  निश्चय  ही प्रियकर  बात बताता हूँ। तुमसे  पहले तेरे शत्रु का शीश विच्छेदन कर धड़ से, कटे मुंड अर्पित करता…

कला की परख साहित्य कार ही करते हैं -डाॅ हरिसिंह पाल

बस्सी पठाना पंजाब के पंडित विनय शास्त्री ‘ विनयचंद ‘ को काव्य रत्न और गोल्डेन बुक आॅफ वल्ड रेकार्ड से सम्मानित करते हुए डाॅ हरिसिंह…

कोरोनवायरस -२०१९” -२

कोरोनवायरस -२०१९” -२ —————————- कोरोनावायरस एक संक्रामक बीमारी है| इसके इलाज की खोज में अभी संपूर्ण देश के वैज्ञानिक खोज में लगे हैं | बीमारी…

Responses

New Report

Close