कृषक

कृषि हमारे वतन की रीढ़
कृषकों के श्रम से कौम का पेट भरता है ।
पर इनकी उपेक्षाओ से
क्यूँ ना हमारे प्रतिनिधियो का दिल दहलता है ।
सङको पर इनका विरोध प्रदर्शन
अन्नदाताओ की समस्याओं का संकेत देता है ।
इनकी दयनीय स्थिति
हमारी लापरवाह नीतियों का आभास देता है ।
विश्वास जगाने की जगह
बलप्रयोग कर, नजरअंदाज तानाशाही का संकेत देता है ।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

3 Comments

  1. Geeta kumari - November 28, 2020, 10:56 pm

    कृषकों के लिए सुंदर भाव

  2. Pragya Shukla - November 29, 2020, 12:30 am

    सही कहा आजकल जो हो रहा है बड़ा दुःखद है
    कोई किसान की समस्या नहीं सुन रहा बल्कि उन्ही को परेशान कर रहा है
    लानत है ऐसे दोगले सिस्टम और सरकार पर
    बेहद गम्भीर रचना

  3. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - November 29, 2020, 8:53 am

    अतिसुंदर भाव

Leave a Reply