चमकती किरणों ने मुझे सहलाया

नई सुबह की
पहली किरण ने मुझे जगाया
हिलोरे देकर चांदनी रात ने था सुलाया
हटाये पर्दे जब माँ ने खिड़कियों से
धूप की चमकती किरणों ने
मुझे सहलाया…


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

6 Comments

  1. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - December 1, 2020, 1:20 pm

    अतिसुंदर भाव

  2. Geeta kumari - December 1, 2020, 1:57 pm

    वाह वाह

  3. vivek singhal - December 1, 2020, 6:57 pm

    Beautiful

Leave a Reply