पत्नी के लिए संदेश

कभी तुम झगड़ती हो, तो कभी रुठ जाती हो।
फिर कभी चाय का कप लेकर, मुझे मनाती हो।

पल-पल गुजरती जिन्दगी, रेत सी फिसलती जाती है।
ओर तुम सारा दिन, मकां को घर बनाती हो।

न जाने किन किन से, कितने रिश्ते निभातीं हो, मुझको भी सामाजिक दायित्व सिखाती हो।

तुम्हारे जन्मदिन पर, ढेर सारी शुभकामनाएं।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

10 Comments

  1. Satish Pandey - August 4, 2020, 2:32 pm

    सुन्दर

  2. Tarun Bhatnagar - August 4, 2020, 2:34 pm

    हार्दिक धन्यवाद।

  3. Pragya Shukla - August 4, 2020, 2:39 pm

    👏👏

  4. Tarun Bhatnagar - August 4, 2020, 3:50 pm

    हार्दिक आभार।

  5. Suman Kumari - August 4, 2020, 4:01 pm

    सौ आने सच्ची

  6. Geeta kumari - August 4, 2020, 8:22 pm

    Very nice

  7. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - August 5, 2020, 7:06 pm

    अच्छी रचना

  8. Tarun Bhatnagar - August 9, 2020, 9:08 am

    धन्यवाद ‌

Leave a Reply