पहली प्यार की पहली निशानी

पहली प्यार की पहली निशानी ।
संभाल कर रखना ऐ मेरी रानी।।
यदि कल हम मिले या न मिले।
फिर भी गुलशन में गुल खिले।।
मिलन पे मौसम भी बेमिसाल है।
क्योंकि मुझे तुम से ही प्यार है।।
जुदा कर दे खुदा में दम नहीं ।
मुहब्बत है कोई खिलवाड़ नहीं ।।
दिल दिया है तो जान हम देंगे ।
सितमगर को हम परख भी लेंगे।।


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

3 Comments

  1. Satish Pandey - December 19, 2020, 6:53 pm

    अति सुन्दर प्रस्तुति

  2. Geeta kumari - December 19, 2020, 8:25 pm

    सुन्दर अभिव्यक्ति

  3. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - December 20, 2020, 8:17 am

    बेहतरीन भाव
    क्षमा करे अमित जी
    पहला प्यार

Leave a Reply