सर्दी के मौसम में..

इस सर्दी के मौसम में,
दिन कितनी जल्दी ढलता है।
जिसके घर में प्रतीक्षारत हो कोई,
उसका पग घर की ओर,
जल्दी-जल्दी चलता है।
इस सर्दी के मौसम में,
दिन कितनी जल्दी ढलता है।
जो है तनहा इस जगत में,
कोई प्रतीक्षारत भी ना हो घर में,
उसे कौन सी जल्दी जाने की,
वो धीरे-धीरे ही चलता है।
इस सर्दी के मौसम में,
दिन कितनी जल्दी ढलता है।।
_____✍️गीता


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

Related Posts

मुस्कुराना

वह बेटी बन कर आई है

चिंता से चिता तक

उदास खिलौना : बाल कबिता

8 Comments

  1. Satish Pandey - January 24, 2021, 9:18 pm

    बहुत खूब, सर्दी के मौसम का उत्तम चित्रण। भाव, भाषा और शिल्प का अदभुत समन्वय

    • Geeta kumari - January 24, 2021, 9:59 pm

      इतनी सुंदर और प्रेरक समीक्षा के लिए आपका हार्दिक धन्यवाद सतीश जी। प्रोत्साहन हेतु आभार सर

  2. Antariksha Saha - January 24, 2021, 10:36 pm

    बहुत खूब

  3. Devi Kamla - January 25, 2021, 8:14 am

    बहुत उम्दा

  4. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - January 25, 2021, 8:17 am

    बहुत खूब

Leave a Reply