“हमरी अरज सुनि लीजै ओ छठी मैया”

अवधी देवीगीत:- ‘छठ पूजा स्पेशल’
*****************
ओ छठ मैया !
हमरी अरज सुनि लीजै…
सात बरस मोरे ब्याह को होवै
ललनवा तरसे मोर अंगनवा
ओ छठ मैया !
दईदेऊ हमकऊ ललनवा…
सास-ननद मोहे नाता मारैं
जिठनी मनहिं मुसकावैं
ओ छठ मैया !
हमरी अरज सुनि लीजै…
राह चलत सब निरवंशी कहैं मोहे
मोरी सूरतिया असगुनही मानैं
ओ छठ मैया !
हमरी अरज सुनि लीजै..
सेंदुरिया सूरज हम अर्घ देइति हन
तोरी किरिपा हमई मिलि जावै
ओ छठी मैया !
हमरी अरज सुनि लीजै…


लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

10 Comments

  1. Geeta kumari - November 20, 2020, 10:25 pm

    वाह वाह क्या बात है लाजवाब अभिव्यक्ति, सुंदर रचना

  2. Rishi Kumar - November 21, 2020, 7:16 am

    Oo
    Very good👍

  3. Pt, vinay shastri 'vinaychand' - November 21, 2020, 8:20 am

    अतिसुंदर

  4. Satish Pandey - November 21, 2020, 9:50 am

    बहुत खूब

  5. Anu Singla - November 21, 2020, 12:21 pm

    NICE

Leave a Reply