हाल बिहार के

ऐसी उठा पटक न देखी कभी,
न ही सुने शब्द तीखे तर्रार कभी|
ये तो entertainment का जमाना है भैया
जो जि सब होत रहत है,
वरना पब्लिक तो सब जानती है||

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

........................................

7 Comments

  1. Panna - November 8, 2015, 9:48 pm

    Ekdam sahi kaha …
    Public to sab jaanti he 🙂

  2. Sumit Nanda - November 8, 2015, 9:56 pm

    true

  3. Kapil Singh - November 9, 2015, 8:56 pm

    nice..sahi kaha

  4. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 9, 2019, 7:16 pm

    वाह बहुत सुंदर रचना

Leave a Reply