Pradhanmantri Narendramodi

0

तमन्ना थी हम देशवासियों की,
ऐसा हो कोई प्रधानमंत्री हमारा,
गर्व हो जिस पर हम सबका,
हां, आप में पाया वह सब गुण हमने,
उच्च शिखर तक भारत को है पहुंचाया आपने,
भारत क्या दुनिया ने भी लोहा मान लिया है आपका,
पहले थी हर तरफ लूट मारी चोरी घूसखोरी,
अब तो लगा लगाम नौकरशाही पर,
अब तो लगा लगाम चोर बाजारी पर,
स्वच्छ भारत का सपना है दिखाया,
योग दिवस का बिगुल बजाया.
कश्मीर से 370 हटाया,
पुलवामा का बदला लिया,
आतंकवाद की नीव हिलाई,
हां सच है 56 इंच के सीने वालीे है बात आपमे,
उज्जवल भारत का सपना है अब दिख रहा |

Previous Poem
Next Poem

लगातार अपडेट रहने के लिए सावन से फ़ेसबुक, ट्विटर, इन्स्टाग्राम, पिन्टरेस्ट पर जुड़े| 

यदि आपको सावन पर किसी भी प्रकार की समस्या आती है तो हमें हमारे फ़ेसबुक पेज पर सूचित करें|

9 Comments

  1. Mithilesh Rai - September 18, 2019, 7:57 pm

    बहुत खूब

  2. Ashmita Sinha - September 18, 2019, 9:37 pm

    Nice one

  3. महेश गुप्ता जौनपुरी - September 18, 2019, 10:26 pm

    वाह बहुत सुन्दर

Leave a Reply