आतंक पालने वाले

आतंक को पालने वाले मत हमे आँख दिखाओ
घुन की तरह खोखला कर रहे हैं तुम्हें बचाओ
मानवता के लिए अभिशाप है आतंकवाद
जरा भी मानवता हो तो इसे दुनिया से हटाओ

Related Articles

अपहरण

” अपहरण “हाथों में तख्ती, गाड़ी पर लाउडस्पीकर, हट्टे -कट्टे, मोटे -पतले, नर- नारी, नौजवानों- बूढ़े लोगों  की भीड़, कुछ पैदल और कुछ दो पहिया वाहन…

Responses

  1. आपके आने से सावन प्रसन्न है। आप शब्दों के जादूगर हैं। mind blowing कविताएं लिखते हैं। ऐसे ही लिखते रहिये। अच्छे से रचना को गढ़ते हैं।

New Report

Close