याद-ए-बचप्न

यादबचप्न

दिल को मुसकराती है

यादमेह्बूब

खूनअश्क रूलाती है

ख़ुदा

मेरा यार लौटा दे

या अगले बचपन में पहूँचा दे

 

                                              ..….  यूई

Related Articles

माँ मेरी

माँ मेरी ****** मुझे मेरा खोया बचपन लौटा दे विकल हुआ मेरा क्यूँ मन ,फिर आंचल लहरा दे मुझे मेरा खोया बचपन लौटा दे ।…

लौटा दे..

‘वो एक पल भी किसी तौर ना हुआ मेरा, जो मैंने बाँधा था मन्नत का धागा, लौटा दे.. के तुझसे एक कदम साथ भी चला…

ढूंढ़ता बचपन

ढूंढ़ता बचपन ? बस ऐ,ज़िन्दगी मुझे मेरा बचपन लौटा दे। Nishit Lodha मुझे मेरा वो हस्ता हुआ कल लौटा दे, आंसू दे मुझको, पर उन्हें…

Responses

New Report

Close