वृक्ष

वृक्ष से सीखो
फल देना,छाया देना
मोल न लेना ,अडिग रहना

-विनीता श्रीवास्तव(नीरजा नीर)-

Related Articles

आनंद नाद

खुश रहना हंसना तुम सीखो। दुखों से भी लड़ना तुम सीखो । तूफानों को झेलना सीखो। चट्टानों सा बनकर देखो । आकाश में उड़ते पंछी…

Responses

New Report

Close